छत्तीसगढ़राजनीति

केन्द्र की मोदी सरकार के विरोध में धरना/प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर को महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा 

खिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देश व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर कोरबा जिला कांग्रेस कमेटी (शहर) द्वारा केन्द्र की मोदी सरकार के विरोध में धरना/प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर को महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

अरविन्द

कोरबाः अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देश व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर कोरबा जिला कांग्रेस कमेटी (शहर) द्वारा केन्द्र की मोदी सरकार के विरोध में धरना/प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर को महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष सपना चौहान ने बताया कि जैसा की सभी जानते है कि विगत 5-6 महिनों से पुरे विश्व में कोरोना वायरस नामक महामारी का कहर है और यह महामारी दिन ब दिन बढ़ते जा रही है ऐसे में केन्द्र सरकार ने JEE/NEET की परीक्षाओं को सितम्बर माह में आयोजित करने का फैसला लिया जो समझ से परे है। आज के यही प्रतिभागी बच्चे देश के भविष्य है ऐसे में इन्हें और उनके परिजनों को किसी परेशानी में झांक देना किसी भी दृष्टिकोण से ठीक नही हो सकता।

केन्द्र सरकार घमंड में चूर

महापौर राजकिशोर प्रसाद केन्द्र सरकार के इस निर्णय का घोर निंदा करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार घमंड में चूर होकर पूरी तरह बहरी हो चुकी है। उसे छात्रो एवं अभिभावको की स्वभाविक मांग सुनाई नही दे रही है जबकि इन परीक्षाओं को कुछ और समय बाद आयोजित किया जा सकता है।

सभापति श्याम सुंदर सोनी ने केन्द्र सरकार के इस निर्णय का विरोध करते हुए कहा कि इससे पहले भी केन्द्र सरकार के अदूरदर्शी निर्णय से आज भारत देश कोरोना महामारी से जुझ रहा है। वैसे में केन्द्र सरकार का यह निर्णय भी कही भारतवासियों के लिए घातक सिद्ध ना हो जाए। इसलिए इन परीक्षाओं को वर्तमान में टाला जा सकता है।

प्रदेश कांग्रेस सचिव एवं पार्षद सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने कहा कि जिस प्रकार विगत महीनो से रेल, हवाई जहाज, मॉल, रेस्टोरेंट, सिमेनाघर सहित और भी अनेकों व्यावसायिक प्रतिष्ठान, उद्योग धंधे, कल कारखाने बंद है जिससे लाखो मजदूर बेरोजगार हो गये लेकिन फिर भी ये लाखों मजदूर देश के लिए और इस महामारी के विरोध में धैर्य से काम ले रहे है ऐसे में इस परीक्षा को भी कुछ दिनों के लिए टाला जाना देशहित में होगा।

जायसवाल ने बताया

जायसवाल ने बताया कि लाखों बच्चों को देश के विभिन्न परीक्षा केन्द्रो में जाना पड़ता है तथा अनेको बच्चों को एक दिन पहले जाना होता है और इन दिनों एक दिन पहले जाकर किसी होटल या अन्य स्थानों पर ठहरना भी खतरे की ओर संकेत करता है। इसके अलावा और भी अनेकों समस्याएं आती है जो आज के समय में और भी घातक हो सकता है। ऐसे में इन परिक्षाओं के लिए यह समय उचित नही।

जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष कुसुम द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी देश के भविष्य इन छात्रों एवं उनके परिजनों के साथ खड़ी है और उनके सुरक्षित जीवन के लिए कांग्रेस पार्टी के साथ एक जुटता से आवाज बुलंद करते रहेंगे।

पूर्व सभापति एवं एमआईसी सदस्य संतोष राठौर ने कहा

पूर्व सभापति एवं एमआईसी सदस्य संतोष राठौर ने कहा कि जब पूरा देश छात्रो के अभिभावक एवं परिजन इस निर्णय का विरोध कर रहे है ऐसे में भी केन्द्र सरकार अपनी हठ धर्मिता पर उतारू है। कोरोना वायरस का डर दिन ब दिन बढ़ते जा रहा है और सरकार चाहती भी है और कह रही है घर पर रहो सुरक्षित रहो, अति आवश्यक होने पर ही घर से निकले वह भी पूरी सावधानी के साथ। अब यहां यह समझ से परे है कि एक ओर सरकार कह रही है घर पर रहो सुरक्षित रहो और दूसरी तरफ इन परीक्षाओं को आयोजित कर महामारी बढ़ाने के खतरा को बढ़ावा दे रही है।

कांग्रेस सहकारिता प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष बंटी शर्मा ने बताया

कांग्रेस सहकारिता प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष बंटी शर्मा ने बताया कि JEE की परीक्षा के लिए लगभग 607 केन्द्रों पर करीब 8.58 लाख बच्चे तथा NEET के लिए 3843 केन्द्रों मे ं15.97 लाख बच्चों ने पंजीयन कराया है और इनमे लाखों ऐसे बच्चे हैं जो उनके परीक्षा केन्द्र से सैकड़ों किलोमीटर पर निवासरत् है। ऐसे बच्चों को परीक्षा में बैठने के लिए अपने अभिभावक या परिजनों के साथ एक या दो दिन पहले जाना होगा। परीक्षा केन्द्र के आस-पास ठहरने व भोजन की भी समस्या एक बड़ी समस्या है। ऐसे में केन्द्र सरकार को चाहिए कि इन परीक्षाओं का आयोजन कुछ और दिनों के लिए टाल दें।

कांग्रेस कार्यकर्ता राजेश कुमार यादव सहित उपस्थित अन्य सभी लोगों ने केन्द्र सरकार के इस निर्णय का विरोध किया। कार्यक्रम के अंत में ज्ञापन के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति से आग्रह करते हुए छात्र/छात्राओं व उनके अभिभावकों, परिजनों सहित देश हित को ध्यान में रखते हुए उक्त मामले में हस्तक्षेप करने आग्रह किया है। ज्ञापन पत्र को कलेक्टर कोरबा को सौंपा गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button