बाल संरक्षण आयोग के डिप्टी डायरेक्टर हुए साढ़े तीन लाख रुपए की ठगी का शिकार

ठगी का मामला सिविल लाइन थाने में दर्ज

रायपुर: क्रेडिट कार्ड में आठ हजार बोनस देने का झांसा देकर ठग ने अपने आप को बैंक कर्मचारी बताकर बाल सरंक्षण आयोग के डिप्टी डायरेक्टर से साढ़े तीन लाख की ऑनलाइन ठगी की है. ठगों ने अकाउंट डिटेल मांगकर तीन लाख की शॉपिंग कर दी और 56 हजार दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर किए हैं.

ठगी का शिकार हुए डिप्टी डायरेक्टर का नाम अश्वनी बिसवाल, जो की साढ़े तीन लाख की ऑनलाइन ठगी का शिकार हुए हैं. प्रार्थी ने ठगी का मामला सिविल लाइन थाने में दर्ज कराया है.

सिविल लाइन टीआई सुशांतो बनर्जी ने बताया कि बाल सरंक्षण आयोग के सहायक संचालक अश्वनी बिसवाल ने नया क्रेडिट कार्ड लिया था. उसके बाद उनको किसी अज्ञात ने अपने आप को बैंक कर्मचारी बताकर फोन किया और साढ़े आठ हजार रिवाड पॉइंट मिला है.

ऐसा कहकर झांसा दिया और अकाउंट्स की डिटेल मांगी. जिसके बाद डिप्टी डायरेक्टर लगातार अपना ओटीपी बताते गए. जैसे ही उन्होंने ओटीपी बताया उसके बाद ठग ने उनके क्रेडिट कार्ड से तीन लाख की शॉपिंग कर दी और 56 हजार दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया. मामले की शिकायत पर जांच की जा रही है.

Tags
Back to top button