रिश्वत के आरोप में पुलिस उपाधीक्षक और सहकर्मियों को किया गया गिरफ्तार

शिकायतकर्ता से रिश्वत की रकम की पहली किस्त के तौर पर 10 लाख रुपये लेते पकड़ा गया

मुंबई: महाराष्ट्र के परभणी जिला में एक व्यक्ति से कथित रूप से दो करोड़ रुपये रिश्वत मांगने और रकम का कुछ हिस्सा लेते हुए एक पुलिस उपाधीक्षक और उनके सहकर्मियों को गिरफ्तार किया गया।

एसीबी ने बताया कि आरोपी पुलिस उपाधीक्षक राजेंद्र पाल (55) परभनी के सेलु में उपमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) के तौर पर सेवा दे रहे थे। उन्होंने एक मामले में कार्रवाई नहीं करने के लिए शिकायतकर्ता से रिश्वत मांगी थी। पाल के सहकर्मियों को शुक्रवार को शिकायतकर्ता से रिश्वत की रकम की पहली किस्त के तौर पर 10 लाख रुपये लेते पकड़ा गया।

एक अधिकारी ने बताया, ”पाल ने उस शख्स से दो करोड़ रुपये की मांग की थी, जिसके दोस्त की इस साल मई में सड़क हादसे में मौत हो गई थी। शिकायतकर्ता और उसके दोस्त की पत्नी के बीच मोबाइल पर हुई बातचीत का एक ऑडियो क्लिप बाद में सामने आया था।”

उन्होंने बताया कि इसके बाद पाल ने उस व्यक्ति को कई बार फोन किया और उसे धमकी दी कि उसने ऑडियो क्लिप सुना है। उसने उस व्यक्ति के साथ गाली-गलौज भी की और उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने के एवज में उससे दो करोड़ रुपये की मांग की।

अधिकारी ने बताया कि व्यक्ति ने इतनी राशि का भुगतान करने में असमर्थता व्यक्त की। लेकिन बातचीत के बाद वह डेढ़ करोड़ रुपये देने को तैयार हो गया। इसके बाद शिकायतकर्ता ने एसीबी से संपर्क किया और पाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद एसीबी ने सेलू में एसडीपीओ कार्यालय में जाल बिछाया, जहां उसके 37 वर्षीय सहकर्मी को पहली किस्त के रूप में 10 लाख रुपये लेते हुए पकड़ा गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button