देसी घी को प्रचार की जरूरत नहीं होती, मैं किसान पैदा हुआ हूँ -सीएम बघेल

छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो गया

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र की आज से शुरुआत हो रही है. ऐसा माना जा रहा है कि 30 दिसंबर तक चलने वाले शीतकालीन सत्र में कृषि कानून और कोरोना का मुद्दा गरमा सकता है.

सत्र के पहले दिन की शुरुआत सदन के दिवंगत सदस्यों हीरासिंह मरकाम, घनाराम साहू, लाल महेंद्र सिंह टेकाम और पूरनलाल जांगड़े को श्रद्धांजलि दी गई. सदन की कार्यवाही में सदन में खुज्जी विधायक ने किसानों के अस्थाई विद्युत पम्प कनेक्शन का मामला उठाया.

पूरक सवाल के जवाब में बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने कहा, मैंने भी इसे लेकर सवाल लगाया है. पूरे प्रदेश में 94 हजार कनेक्शन के आवेदन है. इन सभी आवेदनों पर कनेक्शन दिया जाएगा तो सरकार को 900 करोड़ रुपये लगेंगे.

मुख्यमंत्री क्या सदन में घोषणा करेंगे कि सभी आवेदनों पर कनेक्शन दिया जाएगा. मुख्यमंत्री खुद किसानों के ब्रांड एम्बेसडर बन गए है. इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि देसी घी को प्रचार की जरूरत नहीं होती. मैं किसान पैदा हुआ हूँ. किसान के रूप में ही मृत्यु होगी. ब्रांड एम्बेसडर बनने की जरूरत नही है. 94 हजार 950 कनेक्शन के आवेदन हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button