पिछले 2 साल से सैलरी न मिलने को लेकर मायूस एक टीचर ने की खुदकुशी

कर ली. मरने से पहले अपने सुसाइड नोट में लिखा की उसको पिछले 2 साल से सैलरी नहीं मिल रही थी. राजधानी दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में अपने परिवार के साथ रहने वाले अनूप जोहर नाम के एक अध्यापक ने फांसी के फंदे से लटक कर जान दे दी.

नई दिल्ली:राजधानी दिल्ली में एक निजी स्कूल में पिछले 2 साल से सैलरी न मिलने को लेकर मायूस एक टीचर ने खुदकुशी कर ली. मरने से पहले अपने सुसाइड नोट में लिखा की उसको पिछले 2 साल से सैलरी नहीं मिल रही थी.

राजधानी दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में अपने परिवार के साथ रहने वाले अनूप जोहर नाम के एक अध्यापक ने फांसी के फंदे से लटक कर जान दे दी. सुसाइड नोट में अनूप जोहर ने लिखा कि उन्हें सैलरी के नाम पर सिर्फ और सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा था.

अनूप पीतमपुरा के भानू एनक्लेव में अपने परिवार के साथ रहते थे. परिवार में उनकी पत्नी, भाई और मां हैं. 2 साल से सैलरी ना मिलने की वजह से वह आर्थिक दिक्कतों में चल रहे थे और दबाव लगातार बढ़ता जा रहा था. परिवार की जिम्मेदारी उन्हीं के कंधों पर थी लेकिन सैलरी ना मिलने की वजह से यह कंधे कमजोर पड़ रहे थे.

इस घटना के बाद एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें भाजपा के पूर्व विधायक कुलवंत राणा उनकी पत्नी अनीता राणा का नाम भी लिखा है. दरअसल यह लोग स्कूल के ऑनर है और सैलरी न मिलने के लिए इन्हीं को जिम्मेदार ठहराया गया है इसी वजह से इन दोनों का नाम लिखकर अध्यापक अनूप ने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button