मोदी लहर के बावजूद विपक्षियों ने बचाई अपनी प्रिय नेताओं की शाख

'निरहुआ' सपा नेता अखिलेश यादव के सामने टिक पाने में नाकाम

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुनामी में इस बार कई राज्यों के राजनीतिक किले ढह गए हैं तो कहीं पर मोदी लहर के बावजूद लोगों ने अपने प्रिय नेताओं की साख बचा ली है. ऐसा ही रिजल्ट आजमगढ़ सीट पर देखने को मिला है जहां पर भोजपुरी सुपरस्टार ‘निरहुआ’ सपा नेता अखिलेश यादव के सामने टिक पाने में भी नाकाम रहे.

आजमगढ़ सीट पर पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ को 2 लाख 59 हजार वोटों से हरा दिया है. भोजपुरी सुपरस्टार ‘निरहुआ’ और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच आजमगढ़ सीट पर मुकाबला काफी रोचक रहा.

भोजपुर सुपरस्टार दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ की पॉपुलैरिटी को बीजेपी ने यूपी में भुनाने की कोशिश तो की लेकिन वो कामयाब नहीं रही. मुस्लिम और यादव समुदाय का वोट इस सीट पर निर्णायक साबित हुआ और उन्होंने वहां के जाने-माने नेता अखिलेश यादव को जीत का ताज पहनाया.

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव विजयी हुए थे. उन्होंने भाजपा के उम्मीदवार रमांकात यादव को हराया था. मुलायम सिंह इस बार मैनपुरी से चुनाव लड़े जबकि रमाकांत यादव कांग्रेस के टिकट पर भदोही से चुनाव मैदान में थे. मैनपुरी लोकसभा सीट पर आमने-सामने के मुकाबले में सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने लगातार पांचवी बार जीत हासिल की.

Back to top button