दोनों देशों के बीच तनाव के बावजूद पाकिस्तान में होगा चाय निर्यात

चाय निर्यात 2019 में बढ़कर 20-25 मिलियन किलोग्राम होने की उम्मीद

नई दिल्ली: पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में भारत ने अपने 40 जवानों को खो दिया। जिसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव और बालाकोट में बाद में हवाई हमले के बीच पाकिस्तान में भारत का चाय निर्यात 2019 में बढ़कर 20-25 मिलियन किलोग्राम होने की उम्मीद है, जो पिछले वर्ष में 15.83 मिलियन किलोग्राम था।

चूंकि केन्या की चाय की फसल में गंभीर सूखे की वजह से गिरावट आई है, इसलिए मोम्बासा नीलामी में कीमतों में 15-20% की वृद्धि हुई। जेपी टी एंड इंडस्ट्रीज के एमडी डीपी माहेश्वरी ने बताया, “इससे पाकिस्तान को भारत से अधिक चाय आयात करने के लिए प्रेरित किया गया है।”

पाकिस्तान को निर्यात की जाने वाली लगभग 80% चाय दक्षिणी भारत की है जबकि शेष असम की है। पिछले साल, केन्या ने 492.9 मिलियन किलोग्राम की रिकॉर्ड फसल का उत्पादन किया था, जिससे वैश्विक बाजारों में चाय की कीमतों में गिरावट आई और साथ ही भारतीय चाय को भी प्रभावित किया। लेकिन इस साल केन्या में फसल बहुत कम होगी। इसी के चलते अब पाकिस्तान में भारत का चाय निर्यात बढेगा।

Back to top button