सऊदी में महिलाओं के कार ड्राइविंग प्रतिबंध का विरोध करने पर राजद्रोह का आरोप, 7 गिरफ्तार

दुबईः सऊदी अरब में महिलाओं के वाहन चलाने के अधिकार के लिए संघर्ष करने वाली चार प्रमुख मानवाधिकार कार्यकर्ताओं सहित 7 लोगों को विदेशी संगठनों के साथ काम करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। सरकार समर्थित मीडिया संगठनों ने उन्हें विश्वासघाती और राजद्रोही बताते हुए उनकी तस्वीरों को सोशल मीडिया और समाचार पत्रों में प्रकाशित किया है।

सऊदी अरब के अगले महीने महिलाओं के गाड़ी चलाने पर लगे प्रतिबंध को हटाने की तैयारी के बीच ये गिरफ्तारियां हुई हैं। गिरफ्तार कार्यकर्ताओं में लुजैन एलाहथ्लौल, इमान अल-नफजान और अजीजा अल युसूफ शामिल हैं, जिन्होंने सार्वजनिक रूप से गाड़ी चलाने पर प्रतिबंध का विरोध किया था। गृह मंत्रालय ने कहा कि उनके द्वारा विदेशी संगठनों से संपर्क किए जाने और सरकार को अस्थिर करने की साजिश के साथ विदेशी संस्थाओं को रुपए उपलब्ध कराए जाने की जांच की जा रही है।

सऊदी अरब में सख्त कानून बनाए गए हैं, जिसके तहत महिलाओं को विभिन्न फैसलों व कार्यों के लिए अपने पिता, भाई, पति और तो और बेटों से इजाजत की जरूरत होती है। देश में 24 जून से गाड़ी चलाने पर प्रतिबंध हटाया जाना है। रिपोर्ट में कहा गया कि हिरासत में लिए गए कार्यकर्ताओं में एक अर्ध सेवानिवृत्त वकील भी शामिल हैं, जिन्होंने हालिया वर्षों में सऊदी मानवाधिकार अधिवक्ताओं का प्रतिनिधित्व किया है। ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा कि कार्यकर्ताओं को 15 मई को गिरफ्तार किया गया।

new jindal advt tree advt
Back to top button