देव गुरु बृहस्पति के प्रभाव में होगा 2019, राशियां भी प्रभावित

अंकित मिंज

बिलासपुर।

वर्ष 2019 की शुरुआत आगामी मंगलवार से हो रही है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक वर्ष 2019 की ज्योतिषी गणना में साल की शुरुआत मंगलवार को होगी तो वहीं साल का अंतिम दिन भी मंगलवार होगा। इसी तरह से साल का मूलांक 3 बन रहा है। इस मूलांक के स्वामी देव गुरु बृहस्पति है। इसलिए यह साल देवगुरु बृहस्पति के प्रभाव से प्रभावित होगा।

नव वर्ष क शुरुआत पौष कृष्ण पक्ष की एकादशी को स्वाति नक्षत्र से होगी। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद डॉण्दीपक शर्मा ने बताया कि यह साल बहुत खास होगा। क्योंकि साल का पहला दिन मंगलवार और अंतिम दिन भी मंगलवार ही होगा। मूलांक की दृष्टि से गणना की जाए तो यह वर्ष देवगुरु बृहस्पति के प्रभाव क्षेत्र में रहेगा। साल के पहले माह जनवरी में ही दो ग्रहण पड़ रहे है जिससे साल में उथल.पुथल होने के योग भी बन रहे है।

प्रथम 15 दिन की अवधि में दो ग्रहण पड़ेंगे। इसके साथ ही तीन बड़े ग्रहों का राशि परिवर्तन होगा। 6 मार्च को राहु कर्क राशि का परित्याग कर मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे। केतु 6 मार्च को मकर राशि को छोड़कर धनु राशि में आएगा। 4 नवबंर को बृहस्पति वृश्चिक राशि का परित्याग कर धनु राशि में प्रवेश करेंगे। धनु राशि बृहस्पति की अपनी राशि होती है। इस प्रकार बृहस्पति का अपनी धनु राशि में प्रवेश करना शुभ संकेतों को जन्म दे रहा।

राशियों पर प्रभाव

मेष-मिले-जुले फल की संभावना प्रतीत होती है। पीले पदार्थों का गरीबों को दान करना चाहिए।
वृषभ-विवाह-प्रेम एवं दाम्पत्य जीवन में सफलता प्राप्त होने के योग बन रहे।
मिथुन-रोग, ऋण व शत्रु विषयक सावधानी बरतने की जरूरत है।
कर्क- संतान विषयक एवं आर्थिक क्षेत्रों में लाभ होने के योग बन रहे।
सिंह- चल एवं अचल संपत्ति और नौकरी में लाभ के बन रहे योग।
कन्या- पराक्रम में वृद्धि होगी
एवं भाग्यजनित सफलता के योग है।
तुला- आर्थिक क्षेत्र से संबंधित लाभ होगा। परंतु स्वास्थ्य विषयक सावधानियां बरतने की जरूरत है।
वृश्चिक- नए संबंधों की स्थापना होगी। विवाह व वैवाहिक जीवन में सफलता मिलेगी।
धनु- व्ययजनित सावधानी बरतने की आवश्यकता है।
मकर- पुरानी समस्याओं का समाधान होगा।
कुंभ- कॅरियर एवं व्यापार में लाभ के योग बन रहा।
मीन- नए कार्यों की शुरुआत होगी एवं संपूर्ण वर्ष अच्छा रहने के योग बन रहे।

advt
Back to top button