अवैध कटाई मामले में डीएफओ ने लापरवाह डिप्टी रेंजर व बीटगार्ड को किया सस्पेंड

जांच का जिम्मा तेंदुपत्ता विभाग के प्रबंध संचालक आरके सिसोदिया को सौंपी

रायगढ़: वनों की अंधदून अवैध कटाई के चलते डीएफओ ने लापरवाह डिप्टी रेंजर व बीटगार्ड को सस्पेंड कर दिया है। मामला घरघोड़ा वन परिक्षेत्र के चोटीगुड़ा क्षेत्र के नारंगी वनखंड का है, जहां डिप्टी रेंजर व बीटगार्ड के ऊपर गंभीरता लेते हुए काफी मात्रा में अवैध कटाई मामले में डीएफओ ने उन्हे सस्पेंड कर दिया।

इस संबंध में विभागीय अधिकारियों ने बताया कि घरघोड़ा वन परिक्षेत्र के चोटीगुड़ा क्षेत्र में नारंगी वन भूमि पर अवैध कटाई अतिक्रमण करने की मंशा से किया गया था, पर मामले की जानकारी विभाग के उच्चाधिकारियों को लग गई और डीएफओ ने तत्काल जांच का जिम्मा तेंदुपत्ता विभाग के प्रबंध संचालक आरके सिसोदिया को सौंपी।

इसके बाद जांच अधिकारी ने मौके का निरीक्षण करते हुए डिप्टी रेंजर, बीटगार्ड व अन्य का बयान लेकर जांच शुरू किया और जांच रिपोर्ट तैयार कर डीएफओ मनोज पांडे को सौंपा। जहां मामले को डीएफओ ने काफी गंभीरता से लिया और पेड़ नुकसान को देखते हुए डिप्टी रेंजर मिलन भगत व बीटगार्ड छत्रपाल राठिया को सस्पेंड कर दिया है। बताया जा रहा है कि मामले में अब आगे की प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

सकते में अन्य कर्मचारी

डीएफओ मनोज पांडे अवैध कटाई व वन अपराध से जुड़े मामले को गंभीरता से ले रहे हैं और लापरवाह कर्मचारियों पर नियमानुसार विभागीय गाज गिराना भी शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि रायगढ़ वन मंडल के अन्य रेंज व बीट में भी अवैध कटाई व वन अपराध से जुड़ा मामला सामने आता है, तो तत्काल लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

इससे विभाग के लापरवाह कर्मचारी भी सकते में आ चुके हैं। अब केआईटी के पास अवैध कटाई, बंगुरसिया में कूप जलने के बाद उसकी भरपाई के लिए किए गए अवैध कटाई के आरोप व अन्य जगह के अवैध कटाई पर जल्द कार्रवाई किए जाने की बात कही जा रही है।

चोटीगुड़ा क्षेत्र में अवैध कटाई का मामला सामने आने के बाद जांच के आधार पर डिप्टी रेंजर व बीटगार्ड को सस्पेंड कर दिया गया है। अवैध कटाई व वन अपराध से जुड़े किसी भी मामले में लापरवाह कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा।
मनोज पांडे
डीएफओ, वन मंडल रायगढ़

Back to top button