डीजीपी को मिली राम रहीम को जेल से भगाने की धमकी

हरियाणा : हरियाणाके डीजीपी बीएस संधू के पास एक धमकीभरा फोन आया है. फोन करने वाले व्यक्ति ने रोहतक के सुनारिया जेल में बंद गुरमीत राम रहीम को जेल से भगाने की धमकी दी है. उनसे राम रहीम को रिहा करने की मांग की गई है, फोन पर कहा गया कि रिहा नहीं करने पर 72 घंटों के भीतर उसे जेल से भगा लिया जाएगा.

डीजीपी को मिली धमकी

सूत्रों की मानें तो पुलिस महानिदेशक ने राज्य के गृह सचिव एसएस प्रसाद और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को इस धमकी भरे फोन की जानकारी दे दी है. हालांकि संधू ने सीधे तौर पर इस तरह का फोन कॉल आने की बात से इनकार किया है.

सूत्रों के अनुसार, पुलिस महानिदेशक को रविवार देर रात फोन आया. हरियाणा की साइबर क्राइम पुलिस ने फोन की लोकेशन खंगाली तो पता चला कि सिम भले ही ब्रिटेन का है, लेकिन कॉल चंडीगढ़ सेक्टर 11 से की गई है. जिस नंबर से फोन किया गया है फिलहाल वह बंद है.

सुनारिया जेल की बढ़ी सुरक्षा
वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर पुलिस महानिदेशक व गृह सचिव ने सुनारिया जेल की सुरक्षा बढ़ा दी है. पुलिस महानिदेशक ने विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ गोपनीय बैठक करने के साथ ही रोहतक के डीसी, एसपी और जेल अधीक्षक को आवश्यक हिदायतें जारी की हैं. वहीं जेल महानिदेशक डॉ. केपी सिंह से भी इस फोन कॉल और सुरक्षा बढ़ाने पर चर्चा हुई है.
एजेंसियों ने गुरमीत को जेल से शिफ्ट करने की दी सलाह

जांच और खुफिया एजेंसियों ने गुरमीत को जेल से शिफ्ट करने की सलाह दी है, लेकिन माना जा रहा कि फिलहाल उसे वहीं रखा जाएगा. जेल महानिदेशक से कहा गया है कि वह पूरी समीक्षा के बाद अपनी रिपोर्ट पेश करें. वहीं उनसे दूसरी सुरक्षित जेलों के बारे में भी पूछा गया है.
तलाशे जा रहे हैं हनीप्रीत और गुरमीत के विदेशी कनेक्शन

गुरमीत के जेल जाने के बाद हनीप्रीत भी लगातार विदेश में बात करती रही है. उसने अपनी फरारी के दौरान 17 सिम का इस्तेमाल किया, जिनमें तीन इंटरनेशनल हैं. यानी देश में ही कोई व्यक्ति डेरा अनुयायियों को इंटरनेशनल सिम उपलब्ध करा रहा है.

पुलिस को आशंका है कि जिस तरह से हनीप्रीत भारत में रहते हुए विदेशी सिम इस्तेमाल कर रही थी, उसी तरह यहां मौजूद किसी अन्य डेरा प्रेमी ने ब्रिटेन के सिम का इस्तेमाल करते हुए धमकी दी है.
जांच से भटकाने के लिए किया धमकी भरा फोन

राज्य की खुफिया एजेंसियों का मानना है कि पुलिस को जांच से भटकाने के उद्देश्य से धमकी भरे फोन किए गए हैं. पुलिस ने हनीप्रीत का छह दिन का रिमांड ले रखा है, लेकिन अभी तक वह हनीप्रीत से कुछ भी ऐसा नहीं उगलवा सकी, जिसके आधार पर कोई ठोस कार्रवाई की जा सके.

1
Back to top button