धमतरी : मेघा-सिंगपुर-दुगली सड़क का होगा चौड़ीकरण और मजबूतीकरण

लगभग 71 करोड़ की लागत से बनाई जाएगी 35 किलोमीटर लंबी सड़क

धमतरी, 07 अक्टूबर 2021 : नगरी वनांचल की गोद में बसे ग्राम दुगली से सिंगपुर-मेघा तक 35.2 किलोमीटर लंबी सड़क का चौड़ीकरण और मजबूतीकरण किया जाएगा। लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाई जाने वाली इस सड़क से क्षेत्र में विकास की नई इबारत लिखी जाएगी। आदिवासी बाहुल्य इस क्षेत्र में वर्तमान में यह सड़क तीन मीटर चौड़ी है।

समय की मांग को देखते हुए आवश्यकता महसूस की गई कि इस सड़क का उन्नयन और मजबूतीकरण किया जाए। इसके परिणामस्वरूप सिहावा विधानसभा के मेघा-सिंगपुर-दुगली मार्ग का दो भाग में काम किया जाएगा। कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण ध्रुव बताते हैं कि मेघा-सिंगपुर-दुगली मार्ग 1/2 से 14/10 तक कुल 12 किलोमीटर लंबी सड़क का उन्नयन और नवीनीकरण 25 करोड़ 73 लाख 70 हजार रुपए की लागत से किया जाएगा।

मेघा-सिंगपुर-दुगली मार्ग

इसके साथ ही मेघा-सिंगपुर-दुगली मार्ग 15/2 से 38/2 तक की 23 किलोमीटर लंबी सड़क का चौड़ीकरण और मजबूतीकरण भी किया जाएगा। इसके लिए कुल 44 करोड़ 88 लाख 80 हजार रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति मिली है।

गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गत माह आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान जिन 11 विकास कार्यों का ज़िले में भूमिपूजन और लोकार्पण किया, इनमें यह सबसे बड़ा काम है। इस सड़क को अब एक लेन से दो लेन बनाने की योजना है। 70 करोड़ 52 लाख 50 हजार की लागत से इस 35 किलोमीटर लंबी सड़क को दो लेन बनाया जाएगा। फिलहाल यह तीन मीटर चौड़ी सड़क है, इसे अब सात मीटर चौड़ा करने की योजना है। इससे 10 गांव की लगभग 13 हजार 743 की आबादी को सीधा-सीधा लाभ पहुंचेगा और आवागमन की सुगम सुविधा मुहैय्या होगी।

मार्ग कुरूद-मेघा-मगरलोड 

यह मार्ग कुरूद-मेघा-मगरलोड (मुख्य ज़िला मार्ग) मार्ग से शुरू होकर राजनांदगांव, गुण्डरदेही, धमतरी, नगरी, सिहावा, बोरई मार्ग (राज्य मार्ग क्रमांक 23) के ग्राम दुगली में मिलती है। दुगली निवासी संतोष सोरी और उनकी धर्मपत्नी झुलेश्वरी सोरी खुश हैं कि सड़क बनने से अब रिश्तेदारों से मिलने मुड़केरा बड़े भाई के पास जाने और रायपुर जाने में सुविधा होगी। इसी तरह दुगली में ही शोभाराम मंडावी की छोटी सी दुकान है, वे तथा उनकी दुकान पर पहुंचे आकाश कुमार सलाम बताते हैं कि सड़क चौड़ी होने की खबर पेपर में पढ़ खुशी हुई, क्योंकि अब मेघा तथा रायपुर जाने में आसानी होगी और समय भी बचेगा।

ग्रामीण बताते हैं कि नगरी और मगरलोड के सुदूर वनांचल क्षेत्रवासियों के लिए राजधानी रायपुर के लिए यह न्यूनतम दूरी का मार्ग है। इस सड़क के बन जाने से क्षेत्र में आने वाले समय में कृषि, व्यापार, शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर संभावनाएं प्रबल होंगी और तरक्की की नई दास्तान लिखी जाएगी। दस गांव जिनकी 13, 743 बसाहट को लाभ पहुंचेगा उनमें मेघा, सिंगपुर, दुगली के अलावा करेली छोटी, छिपली, मोहंदी, कुसुमखुंटा, बिरझुली, आलेखुंटा, बासीखाई शामिल हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button