कांग्रेस के ‘टूल’ किट विषय पर धरमलाल कौशिक एवं बृजमोहन अग्रवाल के प्रेस वार्ता के बिंदु

कांग्रेस ने एक गुप्त दस्तावेज़ अपने कार्यकर्ताओं और समर्थक बुद्धिजीवियों को भेज कर भारत को दुनिया भर में बदनाम करने, देश की छवि को खराब करने के लिए साज़िश रची. उस 'टूल किट' खुलासा कल-परसों हुआ है.

रायपुर : कांग्रेस ने एक गुप्त दस्तावेज़ अपने कार्यकर्ताओं और समर्थक बुद्धिजीवियों को भेज कर भारत को दुनिया भर में बदनाम करने, देश की छवि को खराब करने के लिए साज़िश रची. उस ‘टूल किट’ खुलासा कल-परसों हुआ है. हाल के महीनों में सोश्यल मीडिया में जितना भारत के खिलाफ दुष्प्रचार किया गया है, उनमें से अधिकांश इसी गुप्त दस्तावेज का हिस्सा थे, ऐसा साबित हुआ है.

पिछले अनेक दशकों से हम ऐसा देखते आ रहे हैं कि सत्ता में नहीं रहने पर कांग्रेस ऐसी चीज़ें करने लगती है जिसे हम सीधे-सीधे देशद्रोह कह सकते हैं. हाल के मामले देखें तो चाहे गलवान और डोकलाम मामले में चीन समर्थक स्टैंड लेने की बात हो या फिर कांग्रेस के नेता द्वारा पाकिस्तान जा कर वहां मोदी जी को हराने के लिए सहायता मांगने की, लगातार कांग्रेस देश विरोधी हरकतें करते पायी गयी है.

लेकिन कल कांग्रेस के जिस साज़िश का खुलासा हुआ है, उसकी निंदा के लिए जितने भी शब्द कहे जाएं वह कम है. मोदी जी और भाजपा के विरोध में इस हद तक कोई राजनीतिक पार्टी जा सकती है, सोच कर वितृष्णा हो रही है.

इस खुलासे के अनुसार कांग्रेस ने अपने समर्थकों-कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया था था कि :-

1. कोरोना के नए म्युटेन्ट को ‘इन्डियन स्टेन’ कहा जाय. वायरस को ‘मोदी वायरस’ कहा जाय.

2. कोरोना से दिवंगत हो रहे लोगों के जलते शवों का नाटकीय प्रस्तुतीकरण किये जायें.

3. डेड बॉडी की फोटो लें और उसे विदेशी मीडिया को भेजा जाय.

4. कुम्भ को सुपर स्प्रेडर के रूप में प्रस्तुत करना. कांग्रेस कार्यकर्ताओं और बुद्धिजीवियों से कुम्भ के बारे में बार-बार यह कहलवाया जाय.

5. विदेशी मीडिया में भारत की छवि अधिकाधिक खराब कैसे की जाय, इसके लिए कोशिश.

6. कांग्रेस के स्थानीय कार्यकर्ताओं को कहें कि वे कोरोना काल में अस्पतालों, दवाओं, ऑक्सीजन आदि पर कब्ज़ा करें. फिर लोगों को कांग्रेस से मदद मांगने के लिए कहना.

7. ऐसा करके जिस मरीज को सहायता उपलब्ध करायें उसे सोश्यल मीडिया पर कांग्रेस को धन्यवाद कहाये जायें. इसका प्रचार प्रसार किये जायें.

8. ऐतिहासिक नए संसद निर्माण यानी ‘सेन्ट्रल विस्टा’ को ‘मोदी महल’ कह कर प्रचारित करना.

9. इस दस्तावेज में कहा जाता है कि – यह (कोरोना काल) हमारे लिए अवसर है कि हम मोदी की छवि को बर्बाद कर सकते हैं. साप्ताहिक पत्रिका में ऐसी स्टोरी प्रकाशित कराये जायें. आदि-आदि.

10. इसमें ख़ास कर यह भी दर्ज है कि लगातार मोदी को पत्र लिखते रहे जायें.

यह चौंकाने वाला है कि ऐसे समय में जब भारत कोविड से लड़ रहा है, कांग्रेस पार्टी भारत से लड़ रही है. सम्पूर्ण मीडिया में प्रसारित इस ‘टूल किट’ के बारे में बताने पर अब कांग्रेस बौखलाहट में भाजपा नेताओं पर शिकायत आदि दर्ज करा रही है.

यह भी पढ़ें :-टूल किट मामले में डॉ.रमन पर एफ़आईआर के ख़िलाफ़ 21 मई को भाजपा का प्रदेशव्यापी धरना

इस संबंध में ट्वीट करने पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह जी के खिलाफ शिकायत की गयी है. हम यह कहना चाहते हैं कि कांग्रेस जो भी करे हम सच कहना नहीं छोड़ सकते. देश के छवि को इस तरह खराब करने और देश के दुश्मनों के हाथ में खेलने की कांग्रेसी साज़िश का हर स्तर पर मुकाबला किया जाएगा. कांग्रेस को अगर यही करना है तो वह करे, भाजपा का हर कार्यकर्ता कांग्रेस की हर प्रताड़ना झेलने तैयार है.

टूल किट में जितनी भी बातें कही गयी हैं वे सभी आपने हाल फिलहाल होते देखा है. कांग्रेस के अनेक नेताओं ने ‘इण्डियन स्टेंन’ या ‘मोदी वायरस’ आदि शब्दों का इस्तेमाल किया है. बेड आदि पर कब्जा की अनेक शिकायतें देश भर में दर्ज करायी गयी हैं.

छत्तीसगढ़ में ही आपने देखा है किस तरह पहले वैक्सीन को बदनाम किया गया, लोगों को लगाने नहीं दिया गया बाद में सबने उसे लगाया. या प्रदेश से लगातार मोदी जी और मंत्रियों को बात-बेबात जो पत्र लिखे जा रहे हैं, वे सभी इस ‘टूल किट’ में दर्ज है. साथ ही जिस तरह कांग्रेस में बौखलाहट है वह आप देख ही रहे हैं. ऐसे में संदेह की गुंजाइश नहीं है.

इस संबंध में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कल विस्तार से बताया ही है. सोश्यल मीडिया और अन्य जगह भी यह चल ही रहा था. पब्लिक डोमेन में है ही. कांग्रेस के रिसर्च विभाग में काम करने वाली सौम्या वर्मा जी से इसे तैयार कराया गया था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button