धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस के गांधी परिवार पर जमकर बोला हमला, उठाए ये सवाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर कहने वाला गांधी परिवार ही असली चोर साबित हो रहा है

रायपुर: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस शासन के घोटालों पर आरोपों की बौछार लगाते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी पर जमकर हमला बोला है।

धरमलाल कौशिक ने राजधानी के एकात्म परिसर स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय में अगला नववर्ष की अंतिम प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से मुखातिब होते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर कहने वाला गांधी परिवार ही असली चोर साबित हो रहा है।

राहुल गांधी सामने आए और मिशेल के गांधी और आर पर स्थिति स्पष्ट् करें। उन्होंने कहा कि सब जानते हैं कि हर तरह के रक्षा घोटाले में कांग्रेस की संलिप्तता कोई नयी बात नहीं है. बात चाहे नेहरू जी के ज़माने के जीप घोटाले की हो या फिर बोफोर्स और फिर हाल में सामने आये अगस्ता घोटाले की.

हर मामले में कांग्रेस पर दलाली के गंभीर आरोप लगे और सभी मामलों में कहीं न कहीं सारे साक्ष्य कांग्रेस के खिलाफ चिल्ला चिल्ला कर यह कहते थे कि उनकी पूरी दाल ही काली रही है.
अभी अगस्ता घोटाले में मोदी जी की सरकार ने इसके बिचौलिए मिशेल को प्रत्यर्पित कर भारत लाने में सफलता पायी है.

पूर्व यूपीए सरकार की फेहरिस्त में जूड़ा एक ओर नया नाम जुड़ा

यह वास्तव में भाजपा नीत केंद्र सरकार की एक बड़ी सफलता है.मिशेल अब जिस तरह के खुलासे लगातार कर रहा है उससे भाजपा के लगाये सारे आरोप सिद्ध हो रहे हैं. इडी इस मामले की जांच कर रही है.

ऐसे-ऐसे तथ्य सामने आ रहे हैं जिससे पूर्व यूपीए सरकार द्वारा किये घोटालों की फेहरिस्त में एक और नया नाम जुड़ गया है। मिशेल ने जिन मिसेज़ गांधी का नाम लिया है, वे कौन हैं आपको यह बताने की ज़रुरत तो है नहीं.

प्रधानमंत्री को चोर कहने वाले साबित हो रहे असली चोर

इसी तरह भविष्य में कथित तौर पर प्रधानमंत्री होने होने वाले कांग्रेस के R को भी आप सब जानते ही हैं. प्रधानमंत्री को चोर कहने वाले ही असली चोर साबित हो रहे है। राहुल गांधी सामने आए और मिशेल केगांधी और आर पर स्थिति स्पष्ठ करें।

अगस्ता सौदे में 360 करोड़ की रिश्वत की बात सामने आई है. इटली की अदालत ने भी साफ-साफ़ माना था कि भारतीय नेताओं को 15 मिलियन डॉलर की रिश्वत दी गयी थी. कोर्ट ने साफ़-साफ़ इस बात की तरफ इशारा किया था कि सोनिया गांधी इस सौदे में अहम भूमिका निभा रही थी.

इस विषय में तथ्यों की एक पूरी सूची आप सबको उपलब्ध करा हूं उससे आपको पता ही चल जाएगा कि किस शातिराना तरीके से इस मामले में भी खजाने की लूट की गयी है. अपनी परम्परा के अनुसार ही सोनिया-राहुल नीत कांग्रेस सरकार ने भी रक्षा सौदों को बिचौलियों के माध्यम से संस्थागत लूट को अंजाम दिया है.

यूपीए-2 ने फोर्स सौदे से संबंधित रकम भी डी-फ्रीज़ कराया

उन्होंने कहा कि आपको याद होगा कि यूपीए-2 ने जाते-जाते क्वात्रो की का बोफोर्स सौदे से संबंधित रकम भी डी-फ्रीज़ करा दिया था.चोर किस तरह एक इमानदार चौकीदार पर ही सवाल उठा रहा है,

इसका बड़ा उदाहरण है हालिया प्रकरण भी. राफेल के सन्दर्भ में राहुल जी HAL की तरफदारी करते नज़र आते हैं जबकि उसी सार्वजनिक क्षेत्र की कम्पनी को इस वीवीआईपी हेलिकोप्टर प्रकरण में नज़रंदाज़ किया गया है.

new jindal advt tree advt
Back to top button