छत्तीसगढ़

राजधानी रायपुर में भी धारावी बस्ती, यहाँ किये जाते हैं हर प्रकार के अवैध धंधे

कई बड़े-बड़े लोगों को मांस-मटन खरीदते देखा जा सकता है

रायपुर: छत्तीसगढ़ के तेलीबांधा रायपुर में एक धारावी बस्ती है जहाँ हर किस्म के धंधे होते है। दारू, गांजा अफीम चरस ड्रग्स के अलावा यहां पर आपको प्रतिबंधित मांस मटन भी आसानी से उपलब्ध हो जायेगा। कई बड़े-बड़े लोगों को मांस-मटन खरीदते देखा जा सकता है। सिर्फ आपको जेब ढीली करनी है सारा संसार उपलब्ध है।

हर प्रकार के नशीले पदार्थ खुलेआम मिल जाता है। स्थानीय एवं मोहल्ले के लोगों का कहना है कि यह काम पूरी तरह से पुलिस की जानकारी में हो रहा है । पुलिस विभाग के निचले स्तर के कर्मचारी ऊपर अधिकारियों को जानकारी नहीं देते, इसलिए उच्च अधिकारी वस्तुस्थिति से अनभिज्ञ रहते है ।

सूत्रों की माने तो यहाँ पर रोजाना लाखों के ड्रग्स की बिक्री होती है, साथ ही रोजाना अमूमन 30 पेटी शराब की बिक्री होती है। लोग साफ तौर पर पुलिस की मिलीभगत की की बात करते है। पीसीआर वेन के कर्मचारियों को लोग इसका जिम्मेदार मानते है । खुलेआम लिफाफा लेते भी देखा जा सकता है।

सूरज ढलते ही नशे के कारोबारी खुलेआम खरीद-फरोख्त करते देखे जा सकते है। वैसे उनको सूरज ढलने का इंतेजार नहीं रहता, दिन के उजाले में भी वे खुलेआम अपने काम को अंजाम देते है। बस ये लोग ऊपर वाले को भेंट पूजा करते रहते है।

बस्ती के लोगों का कहना है कि नशे के कारोबार में बस्ती के काफी लोग संलिप्त है और आसानी से उनके काम संचालित हो रहे है। उनके खिलाफ बोलने की हिम्मत किसी में नहीं है। अगर किसी ने हिमाकत की तो उसका हाथ पैर टूटना तय माना जाता है ।

अपराधी बेखौफ होकर अपने काम अंजाम दे रहे और पुलिस तमाशबीन बनी हुई है। जिसके कारण आए दिन यहां नए-नए अपराध हो रहे है। पिछले दिनों तेलीबांधा में एक महिला के घर घुसकर छेडख़ानी हुआ था जिसमें पुलिस के जवान संलिप्त थे, जिसे बाद में सस्पेंड कर दिया गया था ।

वस्तुस्थिति में वो छेडख़ानी नहीं था, नशे के कारोबार के वर्चस्व को लेकर विवाद ही था। कल जिस महिला की मौत हुई थी उसमें भी काफी बवाल मचा था ।

पुलिस का कहना था कि यह आत्महत्या था, लेकिन मृतक की बहन और प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि शराब के नशे में ऊपर से धक्का दिया गया। लोग हैरान है और जानना चाहते है की पुलिस लीपापोती में क्यों लगी है।

राजधानी के पॉश एरिया के नजदीक यह धारावी बस्ती नासूर बनकर पूरे शहर को अपने गिरफ्त लेने के लिए पैर पसार चुका है। जो आगे चलकर यहां के रिहायशियों के लिए परेशानी का सबब बनेगा, ऐसा मोहल्ले के लोगों का कहना है। पुलिस तो इसे धारावी बनने से पहले ही काले कारोबार को पूरी तरह नेस्तानबूत करना चाहिए, जिससे यहां रहने वाले

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button