बड़ी खबरराष्ट्रीय

Dharma Chakra Day: आषाढ़ पूर्णिमा पर आज देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान बुद्ध की शिक्षाओं और उनके द्वारा दिखाए गए आठ गुना पथ पर जोर देने के लिए इस अवसर पर एक वीडियो संबोधन देंगे।

नई दिल्ली, । आषाढ़ पूर्णिमा के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज राष्ट्रपति भवन में धर्म चक्र दिवस का उद्घाटन करेंगे, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आषाढ़ पूर्णिमा के मौके पर एक वीडियो संदेश देकर भगवान बुद्ध की आठ शिक्षाओं का जिक्र करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान बुद्ध की शिक्षाओं और उनके द्वारा दिखाए गए आठ गुना पथ पर जोर देने के लिए इस अवसर पर एक वीडियो संबोधन देंगे।

केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ (IBC) आषाढ़ पूर्णिमा को धर्म चक्र दिवस के रूप में मना रहा है। धर्म चक्र दिवस, उत्तर प्रदेश के वाराणसी के निकट वर्तमान सारनाथ में हिरण पार्क, रुपपटाना में अपने पहले पांच तपस्वी शिष्यों को बुद्ध के पहले उपदेश की याद दिलाता है। इस दिन को दुनिया भर के बौद्धों द्वारा धर्म चक्र परिवर्तन या धर्म के चक्र की ओर मुड़ने के दिन के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन को गुरु पूर्णिमा के रूप में बौद्धों और हिंदुओं दोनों द्वारा अपने गुरुओं के प्रति श्रद्धा का प्रतीक माना जाता है।

धर्म चक्र दिवस के इस ऑनलाइन समारोह में संस्कृति मंत्रालय और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल और केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू भी शामिल होंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान जारी करके शुक्रवार को बताया कि भगवान बुद्ध को ज्ञान से जागृत करने वाली भारत भूमि की इस ऐतिहासिक विरासत को धर्म चक्र को घुमाकर मनाया जाएगा।

मंगोलिया के राष्ट्रपति का संदेश पढ़ा जाएगा

इसके अलावा इस अवसर पर मंगोलिया के राष्ट्रपति का संदेश पढ़ा जाएगा। साथ ही अब तक मंगोलिया में संरक्षित भारतीय मूल की बौद्ध पांडुलिपि भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेंट की जाएगी। अंतरराष्ट्रीय बौद्ध संघ के सहयोग से संस्कृति मंत्रालय दुनिया भर के बौद्ध संघों के भागीदारी के साथ एक वर्चुअल प्रार्थना कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। मंत्रालय आषाढ़ पूर्णिमा को बतौर धर्म चक्र दिवस के रूप में मनाएगा। हिंदू और बौद्ध इस दिन को गुरु पूर्णिमा के रूप में भी मनाते हैं।

बुद्ध पूíणमा के अवसर पर प्रार्थना समारोह को लाइव दिखाया जाएगा। ये समारोह पवित्र गार्डन लुम्बिनी, नेपाल, महाबोधि मंदिर, बोधगया, भारत, मूलगंध कुटी विहार, सारनाथ, भारत, परिनिर्वाण स्तूप, कुशीनगर, भारत, अनुराधापुरा स्तूप परिसर, श्रीलंका, बौधनाथ, स्वयंभू, नमो स्तूप, नेपाल के दूसरे लोकप्रिय बौद्ध स्थल पर किया जाएगा। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति ने बुद्ध पूíणमा की शुभकामनाएं दीं इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बुद्ध पूíणमा की पूर्व संध्या पर बुधवार को देशवासियों को शुभकामनाएं दीं और कहा कि भगवान बुद्ध का सत्य, शांति और करुणा का संदेश सदैव मानवता का मार्गदर्शन करता रहेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button