ध्रुव एमके-3 एमआर ने डेक ऑपरेशंस में अपनी क्षमताओं का किया सफल प्रदर्शन

शक्ति इंजनों और अत्याधुनिक ग्लास काकपिट से लैस

नई दिल्ली:एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर ध्रुव एमके-3 एमआर ने चलते हुए कोस्टगार्ड शिप पर डेक ऑपरेशंस सफलतापूर्वक करके दिखाए. इस दौरान हेलिकॉप्टर ने लैंडिंग की, उसके ब्लेड्स मोड़े गए, चलते हुए जहाज के ऊपर होवर करता रहा और ऑनबोर्ड हैंगर में प्रवेश किया.

एचएएल ने एक बयान जारी कर बताया कि चेन्नई तट के पास हाल में भारतीय तटरक्षक बल के साथ मिलकर किए गए परीक्षण में हैंगर के अंदर व डेक पर रखरखाव की गतिविधियां और चालू इंजन के दौरान डेक पर हाट रिफ्यूलिंग भी शामिल थी।

शक्ति इंजनों और अत्याधुनिक ग्लास काकपिट से लैस

यह हेलीकाप्टर शक्ति इंजनों और अत्याधुनिक ग्लास काकपिट से लैस है। इसमें अत्याधुनिक सर्विलांस रडार और इलेक्ट्रो-आप्टिकल सेंसर भी लगा है जो क्रमश: 120 नाटिकल मील की दूरी से जहाजों व नौकाओं की पहचान और 30 नाटिकल मील से छोटी से छोटी नौका की निगरानी कर सकता है। एएलएच ध्रुव आइसीजी की क्षमताओं को बढ़ाएगा। 16 एएलएच के समझौते के तहत एचएएल ने हाल ही में तटरक्षक दल को एएलएच ध्रुव एमके-3 एमआर की आपूर्ति की है।

हेलीकाप्टर अभियानों में तैनाती के लिए तैयार

एचएएल के सीएमडी आर. माधवन ने कहा, ‘इन परीक्षणों ने जहाजों से आपरेशंस को अंजाम देने की एएलएच ध्रुव की क्षमता को साबित किया है। जिन अभियानों को सफलतापूर्वक अंजाम दिया गया उनमें निगरानी, तलाशी एवं बचाव और तेल रिसाव से निपटने का प्रदूषणरोधी अभियान शामिल है।’ उन्होंने कहा कि क्षमताओं के सफल प्रदर्शन के बाद अब यह हेलीकाप्टर अभियानों में तैनाती के लिए तैयार है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button