छत्तीसगढ़

दीया-बाती-तेल रूपी अपनापन पाकर, दमके चेहरे..

कोविड-19 के दरमियान अब तक संस्था मेधावी छात्रों की फीस, पठन-पाठन सामग्री, गौ सेवकों को वस्त्र/घड़ी, कोससंगी स्थित गौशाला के रखरखाव हेतु सहयोग राशि प्रदान कर चुकी है ।

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

रायपुर : निमया मानवसेवा फाउंडेशन के संस्थापक मधु यादव, के नेतृत्व में दीपावली के पूर्व डब्ल्यू आर एस कॉलोनी, रायपुर स्थित केंद्रीय विद्यालय क्रमांक 1 के सफाई कर्मचारियों, मालियों और गार्डों के बीच कंबल, मिठाई, पूजा की थाली, दिया, तेल और बाती रूपी खुशियां बांट कर उनके चेहरे पर मुस्कान बिखेरी और त्योहार की महत्ता समझाते हुए उनका उत्साहवर्धन किया । इस मौके पर मधु यादव ने बताया कि जब आप दूसरों को देने के लिए अपना जेब खोलते हैं, तो मुरलीवाला आपको देने के लिए अपना खजाना खोलता है। इसी मूलमंत्र को अपना आदर्श मानकर हमारी निरन्त ऐसे कार्य करते आ रही।

वही फाउंडेशन के प्रमुख निरंजन सिंह यादव ने बताया कि कोविड-19 के दरमियान अब तक संस्था मेधावी छात्रों की फीस, पठन-पाठन सामग्री, गौ सेवकों को वस्त्र/घड़ी, कोससंगी स्थित गौशाला के रखरखाव हेतु सहयोग राशि प्रदान कर चुकी है । मानव सेवा ही माधव सेवा है को अपना सूत्रवाक्य मान संस्था ने निरंतर आगे बढ़ने का संकल्प लिया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button