शुरू हुआ डायल 112 का ट्रायल, आपात काल में तुरंत मिलेगी सहायता

रायपुर।

जनता की सुरक्षा और उनके हितों की रक्षा करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा डायल 112 सेवा की शुरूआत की गई है। इस सेवा का उद्देश्य आपातकालीन परिस्थिति में जनता को कम से कम समय में पुलिस, फायर, एंबुलेंस की सहायता उपलब्ध कराना है। 112 डायल करके फोन करने पर उपलब्ध पुलिस स्टॉफ द्वारा त्वरित गति से सूझबूझ दिखाते हुए कार्यवाही की जाएगी।

पुलिस के आलाधिकारियों की बैठक

मिली जानकारी के अनुसार डायल 112 सेवा के शुरू होने से जनता को किसी भी आपात परिस्थिति में केवल एक ही नंबर याद रखने की जरूरत होगी। साथ ही इस सेवा के द्वारा आवश्यकतानुसार विभागीय समन्यवय बनाकर त्वरित सहायता मिल सकेगी।

इस हेतु पुलिस को अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित किया गया है। पुलिस विभाग का मानना है कि परेशानी के समय यदि सही सुबिधा और सही सलाह उपलब्ध हो जाए तो परेशानी न तो बढ़ेगी और न ही गंभीर रूप धारण करेगी।

-प्रदेश के सभी जिलों में शुरू की जाएगी

वर्तमान में यह योजना 11 जिलों में संचालित की जा रही है उसके बाद प्रदेश के सभी जिलों में शुरू की जाएगी। इस योजना में सोशल मीडिय से भी शिकायत प्राप्त करने का प्रावधान किया गया है।

पुलिस के आलाधिकारियों की बैठक में इस योजना को अमल में लाने हेतु व्यापक रणनीति बनाई गई है। बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आर के विज, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज प्रदीप गुप्ता, पुलिस अक्षीक्षक रायपुर अमरेश मिश्रा की उपस्थिति में जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारी और थाना प्रभारियों की बैठक हुई।

-दो पहिया वाहन का ट्रायल

20 अगस्त सोमवार से जिले में डायल 112 योजना का ट्रायल किया जा रहा है जिसमें 100 और 101 के कॉल भी कमांड सेंटर में रूप किए जा रहे हैं। रायपुर जिले के लिए आबंटित 52 चार पहिया वाहन और 10 दो पहिया वाहन का ट्रायल भी आज से ही किया जा रहा है।

Back to top button