मेडिकल कॉलेज की लापरवाही, 65 साल के बुजुर्ग को एम्बुलेंस नही मिला

- विजय पचौरी

जगदलपुर : बस्तर संभाग के सबसे बड़े हॉस्पिटल सह मेडिकल कॉलेज की लापरवाही एक बार फिर सामनेआ गई। इलाज के नाम पर रेफर सेंटर की पहचान बना चुका जगदलपुर के मेकॉज और महारानी अस्पताल में हजार मिन्नत करने के बाद भी 65 साल के बुजुर्ग को एम्बुलेंस नही मिल पाई।

हारकर डॉक्टर के निर्देशानुसार सिटी स्कैन करवाने भरी दोपहर बुजुर्ग को व्हील चेयर पर बैठकर परिजन शहर के एक निजी सेंटर में ले गए। चिलचिलाती धूप में परिजन बुजुर्ग को बैठाकर व्हीलचेयर को धक्का देते रहे लेकिन अस्पताल प्रबंधन का दिल नही पिघला।

गौरतलब है कि बस्तर के सबसे बड़े अस्पताल महारानी हॉस्पिटल में वैसे तो करोडों की लागत से CT स्कैन मशीन लगाई गई थी लेकिन इस मशीन से यहां के मरीजों का CT स्कैन नही हो पाता है ,वजह है मशीन का खराब रहना। इसके चलते मरीज शहर में ही चल रहे एक दूसरे निजी सेंटर में जाने को मजबूर होते हैं।

लापरवाही की हद है : महारानी अस्पताल में कुछ बरस पहले करोडों रुपए खर्च कर लगाई गई CT स्कैन मशीन काम नही करती है। अस्पताल प्रबंधन इसके लिए कभी ऑपरेटर की कमी का रोना रोता है तो कभी मशीन के खराब होने का। नक्सल प्रभावित क्षेत्र में इस घोर लापरवाही के चलते कई बार नक्सली हमले में घायल जवानों अपनी जान की कीमत भी चुकानी पड़ी है।

advt
Back to top button