कोरोना संक्रमण के बाद डाइटचार्ट भोजन विटामिन और इम्युनिटी कैसे बढ़ाएं – डॉ रोमा शर्मा

आलोक मिश्रा ब्यूरो हेड

बलौदाबाजार : कोविड-19 बेहद संक्रामक बीमारी है जिसके लक्षणों में बुखार, खांसी, कमजोरी महसूस होना, दर्द, सांस लेने में तकलीफ और सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता में बदलाव शामिल है। जब कोई व्यक्ति कोविड-19 से संक्रमित होता है तो उनके खानपान, पोषण और तरल पदार्थों से जुड़ी जरूरतों का ख्याल रखना भी जरूरी हो जाता है। लेकिन बीमारी के लक्षण की वजह से आपकी भूख और खाने की क्षमता भी प्रभावित हो जाती है जिस कारण कई बार पोषण से जुड़ी जरूरतों को पूरा करना मुश्किल हो जाता है।

अगर आप कोविड-19 संक्रमित हैं लेकिन अस्पताल में भर्ती होने की बजाए घर पर ही होम क्वारंटीन में हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए खासकर अपनी आहार से जुड़ी दैनिक जरूरतों को लेकर। हम आपको बता रहे हैं कि कोविड-19 के मरीजों को अपनी डायट में किन-किन चीजों को शामिल करना चाहिए।

कोरोना में ऊर्जा वाले या कैलोरी से भरपूर भोजन का करें सेवन

शरीर के एनर्जी लेवल को मेनटेन रखने के लिए आपको क्या करना चाहिए, उस बारे में हम आपको सुझाव दे रहे हैं:

दिनभर में 6 बार भोजन करें, हर 2-3 घंटे में एक बार
भूख न लगी हो तब भी कुछ-कुछ खाते रहें
कैलोरी से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं जैसे- आलू, ब्रेड, पास्ता, चावल, ब्रेकफस्ट सीरियल्स आदि। इसके अलावा अपनी डायट में साबुत अनाज भी शामिल करें ताकि शरीर को फाइबर भी मिले
घर का बना फलों का जूस पिएं, दूध, मिल्कशेक और हाई कैलोरी वाले पेय पदार्थों का सेवन करें
हेल्दी फैट, ऑइल, नट्स जैसे- बादाम, अखरोट, पिस्ता, चिलगोजा, बीज या सीड्स जैसे- सूरजमुखी का बीज, कद्दू का बीज और अलग-अलग तरह के नट से बने बटर और ऐवकाडो जैसी हेल्दी चीजों को अपनी डेली डायट में डबल पोर्शन में शामिल करें
अधिक कैलोरी वाला नाश्ता जैसे- गुड़ और भुना हुआ चना, शेक, खजूर, नट्स से बने बार और आटा, नट्स और गुड़ से बना लड्डू आदि का भी सेवन जरूर करें

कोविड-19 मरीजों को प्रोटीन से भरपूर डाइट का करना चाहिए सेवन –

कोविड-19 के मरीज इंफेक्शन होने पर अक्सर कमजोरी, भूख की कमी और मांसपेशियों में दर्द की शिकायत करते हैं। ऐसी स्थिति में प्रोटीन से भरपूर डायट शरीर के इम्यून सिस्टम को सुधारने में, बीमारी से जल्दी रिकवर होने में, शरीर के क्षतिग्रस्त उत्तकों को बदलने में और मांसपेशियों की हानि को होने से रोकने में मदद करता है।

कोशिश करें कि रोजाना कम से कम 75 से 100 ग्राम तक प्रोटीन का सेवन करें। प्रोटीन के अच्छे और बेस्ट सोर्स हैं- दालें और फलियां जैसे- काली उड़द दाल, राजमा, साबुत मूंग, मूंगफली, पीनट बटर, दूध, दही, चीज और अंडे। अगर आप मांसाहारी भोजन का सेवन करते हैं तो अपनी डायट में मछली और चिकन को भी शामिल कर सकते हैं।
हर मील के साथ प्रोटीन से भरपूर भोजन का एक पोर्शन जरूर शामिल करें।

कोरोना होने पर पिए अधिक पानी –

हर दिन कम से कम 8 से 10 गिलास तरल पदार्थों का सेवन करें जैसे- पानी, दूध, फ्रूट जूस, इन्फ्यूज्ड वॉटर, बिना कैफीन वाली ग्रीन टी आदि
इसके अलावा गर्म पेय पदार्थ जैसे- गर्म पानी, सूप, ब्रॉथ या शोरबा, बिना कैफीन वाली ग्रीन टी, काढ़ा आदि
चाय, कॉफी और बाकी के कैफीन वाले पेय पदार्थों के सेवन से बचें जो आपके शरीर को डिहाइड्रेट कर देते हैं
अपने पेशाब के रंग पर नजर रखें। अगर पेशाब का रंग गहरा है तो यह डिहाइड्रेशन की निशानी है। लिहाजा दिनभर में कई बार तरल पदार्थों का सेवन करें ताकि पेशाब का रंग हल्का रहे।

कोरोना होने पर खाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजें

विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सिडेंट्स बीमारी के दौरान आपके इम्यून सिस्टम की मदद करने के लिए बेहद जरूरी हैं। अगर आप अपनी भूख से लगातार संघर्ष कर रही हैं तो इसका मतलब है कि आपको पर्याप्त विटामिन्स और मिनरल्स नहीं मिल पा रहे हैं। इम्यून सिस्टम को प्रोत्साहित करने और बढावा देने के लिए आपके शरीर को विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन ई, जिंक, सेलेनियम, ओमेगा 3 और कुछ और ऐंटीऑक्सिडेंट्स की जरूरत होती है।

घर पर आइसोलेशन में रहने के दौरान हो सकता है कि आपको विटामिन डी के उत्पादन के लिए सूरज की जरूरी रोशनी न मिल पाए इसलिए जहां तक संभव हो रोजाना 15 से 20 मिनट तक सूरज की रोशनी में जरूर बैठें। अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए आपको अपनी डायट में कुछ खाद्य पदार्थों को जरूर शामिल करना चाहिए:

अपनी डायट में ढेर सारे फल और सब्जियों को शामिल करें- रोजाना कम से कम 5 से 7 पोर्शन

रेनबो के रंगों के बारे में सोचें और कोशिश करें ये सभी रंग आपके खाने की प्लेट में जरूर शामिल हो। अलग-अलग रंग हमें अलग-अलग विटामिन्स और मिनरल्स देते हैं।
अपनी पोषण से भरी जरूरतों को पूरा करने के लिए घर का बना ताजा खाना ही खाएं।
खाना खाने से पहले और बाद में अच्छी तरह से हाथों को जरूर धोएं।
शारीरिक गतिविधि और साथ में अच्छा पोषण यह आपको आपकी सामान्य रूटीन में लौटने में मदद कर सकता है। थोड़ा बहुत एक्सरसाइज भी जरूर करें क्योंकि इससे भी आपको बीमारी से रिकवर होने में मदद मिलेगी, फेफड़े मजबूत होंगे, सांस लेना आसान होगा और आपकी खोई हुई ताकत वापस लौटेगी। जरूरी नहीं कि आपकी शारीरिक गतिविधियां बेहद कठिन परिश्रम वाली हों। हल्की एक्सरसाइज जैसे- बागीचे में वॉक करना या घर के अंदर ही एक्सरसाइज करना जैसी चीजें ही करें।
रात में कम से कम 7 से 8 घंटे की अच्छी नींद लें। इससे भी इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद मिलेगी। नींद की कमी की वजह से आपको थकान महसूस होगी और आपकी मस्तिष्क की गतिविधियों को नुकसान होगा। जब नींद पूरी न हो या जब शरीर को पर्याप्त आराम न मिले तो इससे शरीर की क्रियाएं प्रभावित होती हैं जिसका आपकी इम्यूनिटी पर सीधा असर पड़ता है।
अगर आप घर पर ही अकेले सेल्फ-आइसोलेट कर रहे हों तो परिवारवालों, दोस्तों या आपके ख्याल रखने वालों से कहें कि वे शॉपिंग करने या राशन का सामान होम डिलिवरी करवाने में आपकी मदद करें।
परिवार, दोस्तों आदि के साथ सोशल मीडिया, फोन कॉल और विडियो कॉल के जरिए संपर्क में बने रहें।

डॉ रोमा शर्मा
फिटनेस एवं डाइट एक्सपर्ट
शारदा हॉस्पिटल, सदर बज़ार
भाटापारा mob 9340580199

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button