डिजी सक्षम कौशल, कौशल वृद्धि और पुन: कौशल में मदद करेगा : केन्द्रीय श्रम और रोजगार मंत्री

केन्द्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने डिजिटल कौशल प्रदान करके युवाओं की रोजगार क्षमता बढ़ाने के लिए गुरुवार को एक डिजिटल कौशल कार्यक्रम ‘डिजी सक्षम’ का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि डिजी सक्षम कौशल, कौशल वृद्धि और पुन: कौशल में मदद करेगा क्योंकि तेजी से प्रौद्योगिकी संचालित युग में यह आवश्यक है।

3 लाख से अधिक युवाओं क दिया जाएगा प्रशिक्षण

डिजी सक्षम पहल के माध्यम से, पहले वर्ष में 3 लाख से अधिक युवाओं को बुनियादी कौशल के साथ-साथ अग्रिम कंप्यूटिंग सहित डिजिटल कौशल में मुफ्त प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। नौकरी की तालाश करने वाले राष्ट्रीय करियर सेवा (एनसीएस) पोर्टल (www.ncs.gov.in) के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं। यह पहल वंचित समुदायों से संबंधित अर्ध शहरी क्षेत्रों के नौकरी चाहने वालों को प्राथमिकता देती है, जिनमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोविड -19 महामारी के कारण अपनी नौकरी गंवा दी है।

टेक्नॉलजी के साथ चलना जरूरी

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तेज गति वाली प्रौद्योगिकी उन्नयन के साथ, निरंतर कौशल, कौशल वृद्धि और कौशल उन्नयन बहुत आवश्यक है। श्रम मंत्रालय के अनुसार माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के साथ यह संयुक्त पहल ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों के युवाओं को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार द्वारा संचालित कार्यक्रमों का विस्तार है।

तीन प्रकार के प्रशिक्षण दिए जाएंगे

डिजी सक्षम पहल के तहत मूल रूप से तीन तरह के प्रशिक्षण प्रदान किए जायेंगे। डिजिटल कौशल – अपनी गति से सीखने, वीआईएलटी मोड प्रशिक्षण (वर्चुअल इंस्ट्रक्टर के नेतृत्व में) और आईएलटी मोड प्रशिक्षण (प्रशिक्षक के नेतृत्व में)। आईएलटी, जो व्यक्तिगत रूप से प्रशिक्षण है, देश भर में अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लिए मॉडल कैरियर केंद्रों (एमसीसी) और राष्ट्रीय कैरियर सेवा केंद्रों (एनसीएससी) में आयोजित किया जाएगा।

इन चीजों के बारे में मिलेगा प्रशिक्षण

इस पहल के माध्यम से, राष्ट्रीय करियर सेवा (एनसीएस) पोर्टल पर पंजीकृत नौकरी की तालाश करने वाले लगभग एक करोड़ सक्रिय लोगों को जावा स्क्रिप्ट, डेटा विज़ुअलाइज़ेशन, एडवांस एक्सेल, पावर बीआई, एचटीएमएल, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट फंडामेंटल, कोडिंग का परिचयआदि में डिजिटल अर्थव्यवस्था में आवश्यक कौशल से लैस करने जैसे क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्राप्त करने में सक्षम किया जाएगा। डिजी सक्षम को आगा खान रूरल सपोर्ट प्रोग्राम इंडिया (एकेआरएसपी-I) द्वारा क्षेत्र में लागू किया जाएगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button