VIP मेहमानों को अब फूल नहीं हनुमान पर किताबें भेंट करेगा उत्तराखंड

देहरादून. उत्तराखंड के दौरे पर आने वाले विशेष मेहमानों के स्वागत के लिए अब ताजे फूलों के गुलदस्ते की जगह किताबें भेंट की जाएंगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य को मेहमानों का स्वागत करने के तरीके को बदलने के निर्देश दिए हैं। रावत ने इसकी प्रेरणा पीएम नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ के 25 जून के एपिसोड से ली। मोदी ने कहा था कि अब समारोहों में फूल की जगह पुस्तकें भेंट करने पर विचार किया जाना चाहिए।

रामनाथ कोविंद को उत्तराखंड के इतिहास पर एक किताब भेंट की थी

सोमवार को मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को उत्तराखंड के इतिहास पर एक किताब भेंट की थी। कोविंद देहरादून में बीजेपी के विधायक और सांसदों से सपॉर्ट लेने आए थे। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने निर्देश दिए हैं कि राज्य के खास मेहमानों को उत्तराखंड का इतिहास, भूगोल, सामाजिक और सांस्कृतिक पहलू, और डॉक्टर विजय अग्रवाल की ‘सदा सफल हनुमान’ जैसी किताबें उपहार स्वरूप दी जाएगी।

उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने भी कहा कि सरकारी महाविद्यालयों में समारोहों, सेमिनारों और दीक्षांत समारोहों में प्रमुख अतिथियों को विवेकानंद, रवींद्रनाथ टैगोर और महात्मा गांधी जैसे प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों पर पुस्तकें दी जाएंगी। धन सिंह रावत ने कहा,’गुलदस्ते की उम्र बहुत कम होती है लेकिन एक किताब जीवनभर के लिए प्रेरणादायी बन सकती है। हम सुनिश्चित करेंगे कि कि जुलाई से इस नियम पर सख्ती से पालन हो।’

Back to top button