दिलीप वेंगसरकर का खुलासा-विराट कोहली को मौका देने पर अगले दिन चली गई थी नौकरी

र्तमान टीम इंडिया में विराट कोहली का रुतबा किसी से छिपा नहीं है। लेकिन पहले एेसा नहीं था। पूर्व चीफ सिलेक्टर दिलीप वेंगसरकर ने खुलासा किया है कि उन्हें साल 2008 में विराट कोहली को मौका देने के फैसले के कारण पद से हटा दिया गया था।

यह बात उन्होंने पत्रकार राजदीप सरदेसाई की किताब डेमॉक्रेसी इलेवन में कही है। इस किताब में भारतीय क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों जैसे एमके पटौदी, सुनील गावस्कर, कपिल देव की बातें दर्ज हैं। तमिलनाडु के खिलाड़ी एस बद्रीनाथ की जगह विराट कोहली को चुनने के कारण पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन से झगड़े पर भी वेंगसरकर ने टिप्पणी की।

साल 2008 में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद विराट कोहली लाइमलाइट में आ गए थे। इसके बाद उन्हें एस बद्रीनाथ की जगह राष्ट्रीय टीम में मौका दिया गया। वेंगसरकर का यह फैसला श्रीनिवासन को पसंद नहीं आया। उस वक्त वह बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष और तमिलनाडु क्रिकेट संघ के अध्यक्ष थे।

किताब में वेंगसरकर के हवाले से कहा गया है कि जब श्रीनिवासन को मालूम चला कि मैंने विराट के लिए बद्रीनाथ को ड्रॉप कर दिया है तो वह गुस्सा होकर तत्कालीन बीसीसीआई अध्यक्ष शरद पवार के पास शिकायत करने चले गए। इसके अगले ही दिन मुझे सिलेक्शन कमिटी के चेयरमैन पद से हटा दिया गया, लेकिन वह विराट कोहली को चुनने का मेरा फैसला बदल नहीं पाए।

गौरतलब है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच आज कानपुर में सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच खेला जाना है। इस मैच में विराट कोहली के पास वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का सुनहरा मौका है। विराट कोहली इस मैच में अगर 83 रन ठोक देते हैं तो वह सबसे तेज 9 हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज बन जाएंगे।

फिलहाल 201 वनडे मैचों की 193 पारियों में विराट कोहली ने 8917 रन बनाए हैं। सबसे तेज 9 हजार रन बनाने का रिकॉर्ड फिलहाल द.अफ्रीका के एबी डिविलियर्स के नाम है,जो उन्होंने इस साल की शुरुआत में बनाया था।

डिविलियर्स ने 214 मैचों की 205 पारियों में यह रिकॉर्ड बनाया था। इसका मतलब है कि विराट कोहली के पास 11 पारियां हैं, जिनमें वह यह रिकॉर्ड बना सकते हैं। लेकिन फैन्स को यही उम्मीद होगी कि विराट बतौर कप्तान शानदार खेल दिखाकर न सिर्फ यह वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाएं, बल्कि लगातार सातवीं सीरीज जीत भी दर्ज करें।

2017 में विराट कोहली सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। वह इकतौले बल्लेबाज हैं, जिन्होंने इस कैलेंडर वर्ष में 1000 से ज्यादा रन बनाए हों।

advt
Back to top button