केन्द्रीय जेल अम्बिकापुर में बंदी की मौत के बाद दण्डाधिकारी ने दिए जांच के निर्देश

रोशन सोनी।

अम्बिकापुर। केन्द्रीय जेल अम्बिकापुर में बंदी भाजू राम की अचानक तबियत बिगड़ने के बाद उसे मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान कैदी की मृत्यु हो गई थी।

इस मामले में जिला मजिस्ट्रेट डॉ.सारांश ने कैदी के मौत के पीछे का कारण जानने के लिए अधिकारियों को एक महीने में जांच के निर्देश दिए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक सबाकपारा निवासी भाजू राम (30) साल को आजीवन कारावास एवं अर्थदण्ड सहित या 1 महिने के कठोर कारावास की सजा सुनाई गई थी।

वहीं कैदी की 10 नवंबर को तबियत बिगड़ने के बाद उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में इलाज के दौरान 14 नवंबर को कैदी की मौत हो गई।

कैदी के मौत के बाद जिला मजिस्ट्रेट ने अधिकारियों को एक महीने में जांच रिपोर्ट सौपने की बात कहीं गई। जिसमें निम्न बिंदू से निम्नांकित की गई हैं….

1 जेल में प्रवेश के समय बंदी के स्वास्थ्य की क्या स्थिति थी

2 बंदी कब बीमार हुआ तथा उसे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय अम्बिकापुर में कब भेजा गया

3 क्या बंदी अचानक बीमार हुआ और उसकी मृत्यु हो गई या पूर्व से उसका इलाज किया जा रहा था।

4 बंदी का इलाज कब-कब और किसके द्वारा किया गया तथा उसे कौन-कौन सी औषधियां दी गई।

5बंदी किस बीमारी से ग्रस्त था।

6क्या बंदी को समुचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई।

7 क्या बंदी को समय पर चिकित्सा उपलब्ध कराने में कोई लापरवाही बरती गई।

8 यदि ऐसा हो तो विलंब या लापरवाही के लिए दोषी अधिकारी एवं कर्मचारी कौन-कौन हैं।

9 बंदी के साथ कोई अमानुसिक कृत्य तो नहीं किया गया, जिससे बंदी की मृत्यु हुई हो गयी।

10 क्या बंदी को शारीरिक या मानसिक यातना दी गई है यदि ऐसा हो तो इसके लिए दोषी अधिकारी एवं कर्मचारी कौन-कौन हैं।

11जांच के दौरान अन्य तथ्य एवं मद्दे जो भी पाए गए हों प्रस्तुत किए जा सकते हैं।

1
Back to top button