मतदाता सूची में गड़बड़ी, BJP प्रतिनिधि मंडल ने अटल श्रीवास्तव के विरूद्ध ज्ञापन सौंपा

बिलासपुर : भारतीय जनता पार्टी के एक प्रतिनिधि मंडल ने आज फिर से निर्वाचन आयोग व कलेक्टर को बिलासपुर विधानसभा मतदाता सूची में गड़बड़ी करने के आरोपो में अटल श्रीवास्तव के विरूद्ध कार्यवाही के लिए ज्ञापन सौंपा पदाधिकारियों ने जनप्रतिनिधित्व कानून 1950 की धारा 31 की तहत कार्यवाही की मांग की। प्रतिनिधि मंडल ने कहा की प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री अटल श्रीवास्तव जानबूझकर बिलासपुर विधानसभा के मतदाता सूची से 14000 मतदाताओं को विलोपित कराने के लिए आॅनलाईन आवेदन कर रहे है। वे गलत तथ्यों पर आॅनलाईन आवेदन करके मतदाता सूची को प्रभावित करने का षड़यंत्र कर रहे है। प्रतिनिधि मंडल ने ज्ञापन सौंप कर जिला प्रशासन से मांग की कि कांग्रेस के महामंत्री अटल श्रीवास्तव के विरूद्ध कानून संबंध कार्यवही की जाए और उनके विरूद्ध झुठा शपथ पत्र देने का मामला भी दर्ज हो।

भाजपा नेताओ ने कलेक्टर को सौपे ज्ञापन में कहा कि कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव ने बिलासपुर विधानसभा के 14 हज़ार मतदाताओ के नाम विलोपित करने ऑनलाइन आवेदन दिया इस आवेदन के साथ यह शपथपत्र दिया गया कि इस सन्दर्भ में प्रत्येक जिम्मेदारी उसकी है| उसके द्वारा राजनीतिक लाभ के लिए बिलासपुर विधानसभा के मतदाताओ को मतदान से वंचित कर उनके मुलभुत अधिकारों से वंचित करने का कुप्रयास किया गया है जो भारतीय संविधान की गरिमा के विपरीत है साथ ही जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत अपराधिक कृत्य भी है| कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव ने फार्म 07 में अपील कर गलत बयानबाज़ी की है, इस प्रयास से वे लोगो के मतदान का अधिकार छीनना चाह रहे है| भाजपा नेताओ ने कहा कि निर्वाचन आयोग के वेबसाइट पर प्रिंटेड प्रारूप गाइड लाइन के तहत निःशुल्क भरने की सुविधा नागरिको के अधिकारों के लिए जनप्रतिनिधित्व कानून के अंतर्गत दी गयी है जिसका अटल श्रीवास्तव ने गलत प्रारूप भरकर प्रशासन और निर्वाचन आयोग को भ्रमित करने का कार्य किया है, जनप्रतिनिधि कानून 1950 की धारा 31 का अटल श्रीवास्तव ने जानबूझकर 14 हज़ार बार उल्लघन किया है और यह अपराध की श्रेणी में भी आता है|

नियमानुसार अटल श्रीवास्तव केवल अपने बूथ क्षेत्र के बोगस मतदाताओ की शिकायत कर सकते है फिर उन्होंने अपने बूथ से बाहर जाकर शिकायत की है, अटल ने जिनके नामो को काटने का आवेदन किया है उनमे से वार्डो में मौजूद लोग है इसका अर्थ है कि अटल श्रीवास्तव उन्हें मतदान के अधिकार धोखे से छीनना चाहते है जो संविधान के मूल अधिकारों के खिलाफ है| भाजपा नेताओ ने जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर से इस मामले में कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव के खिलाफ जनप्रतिनिधित्व कानून के आधार पर जांचकर उचित कार्यवाही की मांग की है| भाजपा पदाधिकारी द्वारा कलेक्टर व निर्वाचन आयोग को ज्ञापन सौपे जाने के दौरान भाजपा नेता एवं एल्डरमैन मनीष अग्रवाल, दुर्गा सोनी, लाला भाभा, धीरेंद्र केशरवानी, गोपी ठारवानी, रामदेव कुमावत, गुलशन ऋषि, रौशन सिंह, प्रवीण दुबे, आनन्द दुबे, अजीत भोगल, विजय ताम्रकार, राजेन्द्र भंडारी सहित भाजपा कार्यकर्त्ता उपस्थित रहे|

अटल श्रीवास्तव के कंट्री क्लब से पकडाए थे नसबंदी कांड के आरोपी :- बिलासपुर जिले के नसबंदी कांड में 13 महिलाओं की मृत्यु हो गई थी इस नसबंदी कांड के आरोपी के साथ अटल श्रीवास्तव की कारोबारी साझेदारी थी साथ ही नसबंदी कांड में महिलाओ की मौत के बाद हुई कार्यवाही में एक आरोपी लगातार फरार रहा। लगभग एक वर्ष पूर्व जब फरार आरोपी को हिरासम में लिया गया तब पुलिस ने कहा की उसे कोनी थाना क्षेत्र स्थित कंट्रीक्लब से पकड़ा गया। कंट्री क्लब कांग्रेस के महामंत्री अटल श्रीवास्तव का संस्थान है जिसके बाद भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारियों के साथ ही छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के महिला नेत्रियों ने पुलिस अधिक्षक को ज्ञापन सौपा था जिसमें मांग की थी कि फरार आरोपी को पनाह देने के जुर्म में अटल श्रीवास्तव के विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए.

Back to top button