बॉलीवुड में महिला सिंगर्स के साथ होते है भेदभाव – सोना महापात्रा

सोना ने एक कार्यक्रम में कहा कि महिलाओं के साथ होने वाला उत्पीड़न और 'मीटू' आंदोलन एक सच्चाई है.

सिंगर सोना महापात्रा इन दिनों सुर्खियों में हैं. हाल ही में एक इवेंट में उन्होंने बॉलीवुड में महिला सिंगर्स के साथ हो रहे भेदभाव पर खुलकर बात की.

उन्होंने बुधवार को कहा कि बॉलीवुड में आज भी ये हालत है कि 100 गाने रिलीज होते हैं तो सिर्फ 8 में ही महिला गायिकाओं को मौका दिया जाता है.

सोना ने एक कार्यक्रम में कहा कि महिलाओं के साथ होने वाला उत्पीड़न और ‘मीटू’ आंदोलन एक सच्चाई है.

अब इससे मुंह नहीं मोड़ा जा सकता. उन्होंने अनु मलिक का पक्ष लेने के लिए सोनू निगम की भी आलोचना की.

सोना ने कहा, “कैलाश खेर के खिलाफ कितनी शिकायतें आईं, मैंने इससे संबंधित एक पिटीशन शुरू की थी जिसपर आठ हजार लोगों ने हस्ताक्षर किए थे.

लेकिन दिल्ली सरकार ने फिर भी उनसे गाना गंवाया और हमारे सवालों का जवाब तक देना जरूरी नहीं समझा.”

उन्होंने कहा कि मैं फुल टाइम एक्टिविस्ट नहीं हूं और करियर को लेकर काफी मेहनती हूं. मैंने इसी साल 50 लाइव शो किए हैं. मुझे स्पॉटलाइट और अटेंशन काफी पसंद हैं,

बस वो सही काम के लिए होना चाहिए. आगे उन्होंने कहा कि टीवी पर आने वाले शो जिसमें सिंगर सिर्फ लिप्सिंग करते हैं उन्हें मोटिवेट नहीं कीजिए.

उन्होंने कहा कि मैंने इंजीनियरिंग और एमबीए किया है. मैंने एडवरटाइजिंग में भी काफी काम किया है. औरत किसी भी इंडस्ट्री में हो उसे काफी समझौते करने पड़ते हैं.

समाज औरतों को डरा-दबाकर रखता है, उन्हें चुप रहने और सहने की ट्रेनिंग दी जाती है.

new jindal advt tree advt
Back to top button