छत्तीसगढ़

डीजे बंद कराने की बात पर दुर्गा समिति और पुलिस के बीच कहासुनी

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा /संवाददाता : मनीषा त्रिपाठी

बिलासपुर: दुर्गा विसर्जन के दौरान पुलिस आदेश के अनुसार मंगलवार रात 10 बजे डीजे बंद कराने कोतवाली थाने के सामने पहुंची। डीजे बंद कराने की बात पर दुर्गा समिति और पुलिस के बीच कहासुनी हुई, जिसके बाद लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। पथराव में महिला आरक्षक के हाथ में चोट आई फिर पुलिस ने जमकर लाठी भांजी, घटना के बाद माहौल को देखते हुए भारी संख्या में पुलिसबल तैनात किया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार की शाम शहर की दुर्गा समितियों द्वारा शांतिपूर्वक शासन की गाइडलाइन के मुताबिक मां दुर्गा की प्रतिमा का पचरी हाट में विसर्जन किया जा रहा था,इसी दौरान एक समिति के सदस्य डीजे लेकर विसर्जन के लिए पहुंचे,कोतवाली थाने के पास पुलिस ने समिति के सदस्यों को डीजे की अनुमति नहीं होने की बात कहते हुए आवाज कम करने के लिए कहा। समिति के सदस्य आवाज कम करने के लिए राजी हो गए।

इसी बीच कुछ लोगों ने पुलिस कर्मियों से हुज्जतबाजी शुरू कर दी। साथ ही पथराव कर दिया। इससे कुछ पुलिस कर्मियों को चोटे आई है। इसके बाद पुलिस ने वहां मौजूद भीड़ को खदेड़ा। साथ ही डीजे को थाने में खड़ा करा दिया गया। मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसमें से कोई भी दुर्गा समिति का सदस्य नहीं है। कोतवाली थाना प्रभारी कलीम खान ने बताया कि पकड़े गए युवकों से पूछताछ के बाद कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि थोड़ी ही देर में स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया था। समितियां शांतिपूर्वक विसर्जन कर रही हैं।

थाने का किया घेराव

पथराव के बाद पुलिस ने कुछ संदेहियों को हिरासत में लिया है। इससे लोगों ने थाने का घेराव कर दिया। वे लोग थाने के सामने हंगामा करने लगे। घटना की सूचना मिलते ही एएसपी उमेश कश्यप, सीएसपी निमेंष बरैया निरीक्षक सनिप रात्रि मौके पर पहुंच गए। वहीं, लाइन से भी बल बुला लिया गया। इसके बाद पुलिस ने थाने के सामने हंगामा कर रहे लोगों को थाना परिसर से खदेड़ दिया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button