कृषि प्रशिक्षणार्थियों का आदान वितरकों से परिचर्चा

उत्तर बस्तर (कांकेर) : कृषि विज्ञान केन्द्र कांकेर एवं कृषि महाविद्यालय कांकेर और कृषि विज्ञान केन्द्र धमतरी के संयुक्त तत्वाधान में कांकेर एवं धमतरी जिले के डिप्लोमा कोर्स प्रशिक्षणरत कृषि आदान वितरकों का एक दिवसीय परिचर्चा का आयोजन कांकेर में किया गया। इस परिचर्चा में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ एस के. पाटिल, निदेशक अनुसंधान सेवायें डॉ एस. एस. राव, निदेशक विस्तार सेवायें डॉ. ए.एल. राठौर, उप निदेशक अनुसंधान सेवायें डॉ के. एल. नंदेहा, प्रमुख वैज्ञानिक डॉ एस. एस. टुटेजा, अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय डॉ. पी. के. चन्द्राकर, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख कृषि विज्ञान केन्द्र धमतरी डॉ एस. एस. चन्द्रवंशी, एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख कृषि विज्ञान केन्द्र कांकेर डॉ बीरबल साहू उपस्थित थे।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में डॉ पी. के. चन्द्राकर ने डिप्लोमा कोर्स की संक्षिप्त जानकारी दी। कुलपति डॉ पाटिल द्वारा कृषि सेवा संचालकों से विस्तृत चर्चा की गई जिसमें उन्हांेने डिप्लोमा कोर्स से प्राप्त ज्ञान को अधिक से अधिक कृषकों तक पहंुचाने की जानकारी दी। कार्यक्रम के दौरान कृषि सेवा संचालकों ने अपने अनुभव भी साझा किए। परिचर्चा में डॉ बीरबल साहू ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस कार्यक्रम में कांकेर एवं धमतरी जिले के 120 डिप्लोमा प्रशिक्षणरत कृषि आदान वितरक सम्मिलित थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में केन्द्र के वैज्ञानिक सुरेश मरकाम, देवचन्द सलाम, डॉ प्रफुलचंद रहांगडाले, अनिल कुमार नेताम, डॉ अमीन कुरैशी का विशेष योगदान रहा।

advt
Back to top button