प्रांतीय स्तर के सर्व समाज प्रमुखों की बैठक में कई विषयों पर हुई चर्चा

-अमृत लाल साहू

भाटापारा।

छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा के मद्देनजर एवं संविधान की प्रतियां जलाने के विरोध स्वरूप प्रदेश स्तरीय बैठक का आयोजन मंडी रोड स्थित कुर्मी छात्रावास में रखा गया।

छग के सभी समाजों के प्रमुख जन एकजुट होकर उक्त मुद्दे पर आम राय सहमति के लिए अपना अपना विचार रखा गया।
बैठक में एससी एसटी और ओबीसी समाज के पदाधिकारियों और कार्यकर्तागण भी शामिल हुए ,जिसमे आदिवासी, कुर्मी,यादव,सतनामी, अहिरवार, कुम्भकार, निषाद,चौहान, निर्मलकर, श्रीवास, विश्कर्मा, देवांगन, गाड़ा सोनी और मरार सहित आदि सभी एससी एसटी और ओबीसी जाति के पदाधिकारियों ने एकजुट होकर आगामी चुनाव हेतु रणनीति तैयार करने की बात कही ।

पूर्व सांसद व आदिवासी नेता सोहन पिटाई ने सभी समाज को एकजुट होकर छग के हक और अधिकारो के लिए लड़ने की बात कही।
पोटाई ने कहा इस बार छत्तीसगढ़िया एकजुट होकर सत्ता की चाबी अपने हाथ लेकर रहेंगे। वही सर्व समाज के कार्यकारी अध्यक्ष रमेश यदु ने भाटापारा में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ियों के हित के लिए मिल का पत्थर साबित होगा।

साथ ही वर्तमान परिस्थिति में सभी समाजों के आचार विचारो के विभिन्नता को एकसूत्र में पिरोकर सामाजिकसंगठन की एकता पर बल दिया एवं आने वाले समय मे सर्वसमाज के हित के लिए कोर ग्रुप बनाए जाने की बात का भी प्रस्ताव रखा। जीवन लाल यादव ने अपने संबोधन में कहा सर्वसमाज के हित के लिए शिक्षा और रोजगार को प्रमुखता से रखा जाए।

साथ ही बीसी जारस ने संबोधन में कहा कि एससी एसटी छग का मूल निवासी हैं जिसके लिए इनका वाजिब अधिकार सामाजिक सहिष्णुता को बनाएं रख उनका अधिकार दिया जाना चाहिए ।

क्रांति साहू ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में समाज के जनाधार के आधार पर ही राजनीतिक प्रतिनिधित्व दिए जाने को लेकर उत्तम बताया साथ ही सर्वसमाज द्वारा निर्णय लिया गया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में सामाजिक समाझौता यात्रा निकाला जाएगा ।

वही सतनामी समाज के प्रदेशाध्यक्ष एल कोसले ने उक्त यात्रा का समर्थन करते हुए रायपुर बूढ़ा तालाब के पास बूढ़ादेव का भव्य प्रतिमा स्थापित करने का प्रस्ताव रखा । वही कमलेश ध्रुव ने अल्पसंख्यक समिती के गठन को शामिल किए जाने की मांग रखा तथा अपने सुझाव में यह भी कहा कि जनता से सीधे जुड़कर सामाजिक हित के लिए सुझाव भी मांगा जाना चाहिए ।

वहीं शगुन लाल वर्मा ने कहा कि हमें अपनी संविधान को बचाने पर जोर दिया, जो संविधान का दुश्मन होगा वह समाज का दुश्मन होगा ।वही एनएस मण्डावी पूर्व आईपीएस ने धमतरी में 27 अगस्त को वृहद स्तर पर आयोजित संविधान बचाओ आंदोलन में सर्वसमाज के लोगों को अधिक से अधिक शामिल होने की भी अपील की ।

उक्त बैठक में बीसी जाटव,पप्पू यादव,सुरेश कुमार दिवाकर, कुंजाम सर,संजय वर्मा रघु साहू,जीवन लाल यादव,राधेश्याम टंडन, देवनारायण बांधे, नरेंदर वर्मा, बाबा दयालू, विजय यादव,शंकर लाल जायसवाल, नारायण निर्मलकर ओमप्रकाश रात्रे एस के बंजारा, उमाकांत वर्मा एवं स्थानीय स्तर पर शैलेन्द्र अहिरवार रामखिलावन देवदास,दिलीप चक्रधारी राधेश्याम वर्मा, सहित बड़ी संख्या में महिलाएं भी उपस्थित थीं।

Back to top button