छत्तीसगढ़

धर्म की प्रचार – प्रसार में तन मन से जुटे दंपत्ती

रायपुर: प्रसिद्ध धार्मिक ग्रंथ श्री रामचरितमानस श्रीमद्भागवत एवं पंडवानी के माध्यम से गाँव एवं समाज में धर्म का जोर शोर से प्रचार-प्रसार में साय दंपत्ति जुटे हुए हैं। ग्राम चेचरपाली तहसील कसडोल जिला बलौदाबाजार निवासी वीरकमल उम्र 40 वर्ष उत्तरा बाई 35 वर्ष एवं मीराबाई 35 वर्ष यह तीनों पिछले पांच वर्षों से अपने गांव घर को छोड़कर गांव – गांव में घूम – घूमकर सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से धर्म का प्रचार – प्रसार करते हुए समाज में जागरूकता लाने लाने का कार्य कर रहे है, साथ ही प्रचार – प्रसार में धन की कमी पड़ने पर अपना स्वयं की जमीन को भी बेच दिए है ये सभी खर्चों को स्वयं ही वहन करते हैं।

इनके द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन के लिये कभी किसी से पैसे की मांग नहीं जाती ये मुख्य रूप से श्री रामचरितमानस, श्रीमद्भागवत, एवं पंडवानी के प्रवचन के माध्यम सांस्कृतिक कार्यक्रम के द्वारा पुरे भारत में प्रचार – प्रसार कर रहे है इनके द्वारा अभी तक उड़ीसा सहित अनेक राज्यों में सांस्कृतिक कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन किया जा चूका है, इनके कार्यक्रम का जहाँ भी हो रहा वहां के लोगों द्वारा बहुत सराहना हो रही है, इनके कार्यक्रम के माध्यम से लोगों के जीवन एवं व्यवहार पर भी विशेष रूप से प्रकाश डाला जाता है, इनके कार्यक्रम की प्रशंसा क्षेत्रिय लोगों के साथ ही विधायक एवं सांसदों का समर्थन मिल रहा है।

Tags
Back to top button