छत्तीसगढ़

परशुराम नगर में दुर्गा विसर्जन के दौरान डीजे वाले से विवाद, नियमों का नहीं हुआ पालन

युवकों में सोशल डिस्टेंसिंग नही थी न चेहरे पर मास्क था

रायपुर।कोरोना के चलते गणेश विसर्जन में निकलने वाली झांकी इस बार नही निकली जिसकी वजह से दुर्गा विसर्जन में डीजे के गानों में युवक थिरकते दिखे। मगर उसके बाद भी युवकों में सोशल डिस्टेंसिंग नही थी न चेहरे पर मास्क था जिससे कोरोना के फैलने का डर भी बना हुआ था।

नवरात्रि के दिनों में ये पहली शारदीय नवरात्रि है जिसमें न तो गरबा हुआ और न ही कोई डांस प्रतियोगिता, मगर डीजे के जुलूस में जिला प्रशासन के सख़्त दिशा निर्देशों का पालन नही किया गया और जुलूस के दौरान काफी मारपीट और झुमा-झटकी के वारदात भी सामने आए।

इसी के चलते डीजे और धुमाल के परमिशन मिलते ही रुझान आने चालू हो गए हैं राजधानी के दूधाधारी मठ के पास परशुराम नगर में दुर्गा विसर्जन के दौरान डीजे वाले से विवाद हो गया है जिसके चलते दुर्गा उत्सव समिति और डीजे चालक में हाथापाई भी हुई है

राजधानी में कोरोना काल के चलते पूरे 7 महीने के बाद डीजे और साउंड सिस्टम को रात 10 बजे तक बजाने की अनुमति जिला प्रशासन ने दी है। लेकिन उसके बाद भी कुछ कड़े नियम और शर्तों की एक पगडंडी खींची गई इसमें साउंड सिस्टम के केवल 2 बॉक्स लगेंगे और समय 10 बजे तक का ही रहेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button