प्राथमिक शाला के जीर्णोद्धार में गड़बड़ी का हुआ खुलासा

शासकीय प्राथमिक शाला बेलटुकरी की जगह शासकीय प्राथमिक शाला आबादी पारा बेलटुकरी का जीर्णोद्धार किया गया है

दीपक वर्मा

राजिम। ग्राम पंचायत बेलटुकरी में शौचालय निर्माण, आवास में गड़बड़ी के बाद प्राथमिक शाला के जीर्णोद्धार में गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। शासकीय प्राथमिक शाला बेलटुकरी की जगह शासकीय प्राथमिक शाला आबादी पारा बेलटुकरी का जीर्णोद्धार किया गया है,

और इससे संबधित विभाग के इजाजत के बिना स्थल परिवर्तन किया गया है। जीर्णोद्धार निर्माण शासकीय प्राथमिक शाला ग्राम बेलटुकरी, ग्राम पंचायत बेलटुकरी के लिए पांच लाख रुपए की स्वीकृति मिली थी।

स्पष्ट होने के बावजूद निर्माण एजेंसी ग्राम पंचायत बेलटुकरी द्वारा आदेश का अवहेलना करते हुए स्वीकृत शासकीय प्राथमिक शाला बेलटुकरी के स्थान पर शासकीय प्राथमिक शाला आबादीपारा बेलटुकरी का जीर्णोद्धार निर्माण कार्य कराया गया है।

पंचो को नहीं दिखाया कार्यादेश की कॉपी, राशि पर निकालने पर लगी लगाम

इसके बावजूद सरपंच व सचिव द्वारा कार्यादेश की कॉपी पंचो को नहीं दिखाने के कारण राशि निकालने पर रोक लगा दिया है। कार्यादेश की जानकारी पंचो को सूचना के अधिकार के माध्यम से जानकारी निकालने पर हुआ है।

इस संबंध में पंचो ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत गरियाबंद व मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत फिंगेश्वर को पत्र प्रेषित किया है।

गौरतलब है कि 2015-16 में शौचालय निर्माण, नाली सफाई, पंचायत भवन मरम्मत, क्रांक्रीटकरण, आदि कार्यों में बेलटुकरी सरपंच पुराणिकराम साहू द्वारा फर्जी मस्टररोल बनाकर राशि निकाल लिया था, जिसके जांच के बाद जनपद पंचायत फिंगेश्वर द्वारा राशि का वसूली किया गया।

अपात्रों को पात्र बनाकर आवास योजना का मिला लाभ

2016-17 में प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत सरपंच पुराणिक राम साहू एवं सचिव द्वारा पात्र हितग्राहियों को अपात्र कर लाभ से वंचित किया तथा अपात्रों को पात्र बनाकर उन्हें आवास योजना का लाभ दिया।

इसकी शिकायत एवं जांच पश्चात राशि एक लाख चार हजार रुपये का वसूल कर सचिव को निलंबित किया गया और सरपंच पुराणिक राम साहू के विरुद्ध पंचायतीराज अधिनियम 1993 की धारा 40 अंतर्गत न्यायालय अनुविभागीय दंडाधिकारी, राजिम के समक्ष प्रकरण दर्ज है।

बावजूद इसके बेलटुकरी सरपंच पुराणिक राम साहू अपने भष्ट्र कृत्यों से बाज नहीं आ रहे हैं और स्वीकृत शाला भवन को छोड़कर अन्य शाला भवन का जीर्णोद्धार निर्माण कर दिया

बताया जा रहा है कि सरपंच के ऊपर ठोस कार्यवाही नहीं होने के पीछे क्षेत्र के कद्दावर भाजपा नेताओं का उन्हें संरक्षण प्राप्त है यही कारण है कि पुराणिक राम साहू के सरपंच कार्यकाल शुरू होने से लेकर अब तक एक के बाद एक भ्रस्टाचार और मनमानी सामने आ रही है।

1
Back to top button