जिला शहर कांग्रेस कमेटी ने केंद्र सरकार की 30 मई को 7 वर्ष पूर्ण होने पर कांग्रेस भवन में प्रेस वार्ता की

ब्यूरो चीफ विपुल मिश्रा

बिलासपुर: ज़िला शहर कांग्रेस कमेटी ने केंद्र सरकार की 30 मई को 7 वर्ष पूर्ण होने पर कांग्रेस भवन में प्रेस वार्ता की । प्रेस वार्ता को प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक ने एड्रेस किया।

कांग्रेस ने प्रतिप्रश्न करते हुए कहा कि 7 वर्ष बीत जाने के बाद भी भाजपा ने 2014 और 2019 की घोषणा पत्र में जो वादे किए उसे पूरा करने में विफल रही है उल्टे जनता अच्छे दिन के स्लोगन पर बदत्तर दिन में जीने को मजबूर है।

नरेंद्र मोदी और भाजपा ने लोकपाल विधेयक संशोधन, कालाधन के 15-15 लाख प्रति खाते में, महंगाई कम करने, भ्रस्टाचार मिटाने, आतंकवाद/उग्रवाद को जड़ से नष्ट करने, एक सैनिक के सर के बदले 10 सर लाने, प्रति वर्ष 2 करोड़ नौकरी देने, कृषि के क्षेत्र में स्वामीनाथन कमेटी को लागू करने, जैसे अनेक घोषणा की पर 7 वर्ष में वादे तो लुप्त हो गए बल्कि 7 वर्षो में ऐसे ऐसे काम कर गए कि विश्व पटल पर भारत छोटे छोटे देशों से मदद ले रहा है।

नोटबन्दी, जीएसटी ने देश की जनता व व्यापारी के कमर तोड़ डाला, तीन कृषि कानून के विरोध में किसान 6 माह से आंदोलन रत है ,तीनो कालाकानून किसानों को भूमिहीन बनाने और जमीन को उद्योगपतियो के पास बेचने के सिवाय कोई दूसरी रास्ता नही बचेगा।

नरेंद्र मोदी की आर्थिक विकास का पैमाना है ” उद्योगपति बढ़े और जनता गरीब हो ” नरेंद्र मोदी ने 7 वर्षो में एक सुई की कारखाना स्थापित नही की उल्टे 9 मिनिरत्नो को बेचने का काम किया। आज बीएसएनएल, रेलवे, एयरपोर्ट, एयरलाइन्स, लाल किला, आदि बिक रहे है।

बैंक का निजीकरण करने का मतलब है आर्थिक कुचक्र में गरीब जनता को फसाना, महाजन पद्धति को लागू करना जबकि पुर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने जनता को कम व्याज दर में ऋण मिले, जनता अपनी बचत को सुरक्षित रख सके, जैसे अनेक उद्देश्यों के लिए बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया था।

कांग्रेस ने कहा कि भावनात्मक शोषण करके भाजपा सत्ता में आ गई पर देश का बड़ा नुकसान हुआ है, आज महंगाई चरमोत्कर्ष पर है, नेपाल आंख दिखा रहा है, चीन की आंखे लाल हो गई भाजपा ने आंखे बंद कर ली है, पुलवामा हमला की साजिशकर्ता कौन है ? जनता पूछ रही है पर नरेंद्र मोदी चुप है, बचाखुचा कसर को कोरोना ने पूरा कर दिया।

कांग्रेस ने कहा कि एक निर्वाचित सरकार ने कोरोना भगाने के लिए दकियानूसी का सहारा ले और ताली, थाली, शंख बजवाये, दीपक जलाएं तो समझा जा सकता है आधुनिक युग मे इस तरह का प्रयोग करना या कराना अज्ञानता को बयां करता है।

कोरोना महामारी में नरेंद्र मोदी ने अपनी जिम्मेदारी को त्याग कर स्टेट्स पर थोपना, वैक्सीन बेचना और वैक्सीन कम्पनियां द्वारा सीधा सीधा स्टेट्स को वैक्सीन न देने की बात करना केंद्र सरकार की सोची समझी रणनीति का हिस्सा है।

कांग्रेस ने कहा गंगा में लाश तैर रही है,देश आर्थिक मंदी से गुजर रहा है और नरेंद्र मोदी अपने इमेज बनानेक चक्कर मे देश की जनता की भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे है। कांग्रेस ने कहा कि नरेंद्र मोदी मन की बात बहुत कर लिए अब जनता की हित, युवाओ के रोजगार, फ्री में वैक्सीनशन हो, आर्थिक उन्नति के साथ साथ ऐसी नीति बनाये कि देश की संपत्ति बिकने से बच सके और देश का भविष्य सुरक्षित हो।

प्रेस वार्ता में महापौर रामशरण यादव, ज़िला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, संयुक्त महामन्त्री राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, प्रदेश सचिव महेश दुबे आदि उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button