राष्ट्रीय

जिला स्वास्थ्य विभाग और सीएम फ्लाइंग टीमों ने किया फर्जीवाड़े का भंडाफोड़

कोरोना पॉजिटिव को निगेटिव बनाकर ज्यादा पैसा वसूला जा रहा था

नई दिल्ली: जिला स्वास्थ्य विभाग और सीएम फ्लाइंग टीमों ने गुरुग्राम में कोरोना टेस्ट को लेकर हो रहे फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ किया है जो चंद रुपयों के लालच में कोविड पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव देता रहा.

गुरुग्राम के कीर्तिनगर इलाके से कोरोना पॉजिटिव को निगेटिव बनाकर ज्यादा पैसा वसूला जा रहा था. कई लोगों को फर्जी रिपोर्ट के आधार पर विदेश तक भेजे जाने जैसे गंभीर आरोप लगे हैं. इससे साइबर सिटी में या दिल्ली-एनसीआर में कोरोना संक्रमण को बढ़ावा देकर लोगों की जान को खतरे में डाला जा रहा था.

जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम और सीएम फ्लाइंग की संयुक्त कार्रवाई में सेक्टर-40 में डायनेक्स एंड पाथ लैब से इस फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ. ड्रग अधिकारी ने गुरुग्राम पुलिस को अति गंभीर मामले की शिकायत की थी.

ड्रग अधिकारी मनदीप चौहान की मानें तो शिकायत यह भी है कि इस लैब द्वारा विदेश जाने वाले लोगों को ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में निगेटिव रिपोर्ट बनाकर कोरोना फैलाने जैसे घृणित काम को अंजाम दिया गया.

ड्रग अधिकारी मनदीप का कहना है कि काफी समय से इस लैब के फर्जीवाड़े की शिकायतें मिल रही थीं और इसको लेकर एक टीम तैयार की गई. लैब ने संक्रमित मरीज को निगेटिव करार देकर गैर कानूनी काम को अंजाम दे डाला.

गुरुग्राम के पॉश इलाके सेक्टर-40 थाना क्षेत्र स्थित इस लैब द्वारा कई पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट को निगेटिव करार देकर ज्यादा पैसे वसूले जाने जैसे गंभीर आरोप भी लग रहे हैं. हालांकि इसको लेकर पुलिस को शिकायत दे दी गई है और तफ्तीश के बाद यह साफ हो पाएगा को कब से इस काले कारोबार को अंजाम दिया जा रहा था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button