कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक हुई आयोजित

मनीष शर्मा

मुंगेली।

कलेक्टर डी. सिंह की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जिला स्तरीय समन्वयन समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में नशा मुक्ति तम्बाकूयुक्त गुटखा बिक्री, धूम्रपान प्रतिबंध के संबंध में चर्चा की गई। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी को निर्देशित किया कि तम्बाकू नियंत्रण हेतु सभी कार्यालयों एवं शालाओं के संस्था प्रमुखों को पत्र लिखें। कार्यालयों में धूम्रपान निषेध की बोर्ड भी लगवायें।

उन्होने कहा कि ड्रग इंस्पेक्टर समुचित कार्यवाही भी करें। कलेक्टर ने जिला कार्यक्रम प्रबंधक को स्टीकर बनवाने के लिए निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर ने तम्बाकू नियंत्रण व गुटखा बिक्री की रोकथाम हेतु सुझाव दिये।

नोडल अधिकारी डॉ. शिशुपाल सिंह सिदार ने राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इसके प्रभावी क्रियान्वयन हेतु खण्ड स्तर पर भी समिति गठित किया जाना है। रायपुर से आयी नोडल अधिकारी ने बताया कि कोटपा एक्ट के तहत सार्वजनिक स्थलों सिनेमा घरों में धूम्रपान प्रतिबंधित है। उन्होने धारा 4, 5 एवं 6 के संबंध में विस्तृत जानकारी भी दी।

उन्होने पुलिस विभाग से कार्यवाही हेतु सहयोग की अपेक्षा की। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक ने एसडीओपी को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आनंद मांझी, सिविल सर्जन डॉ. आरके भुआर्य, जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. आगरे, जिला कार्यक्रम अधिकारी संजुला शर्मा सहित खण्ड चिकित्सा अधिकारी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों एवं संस्थागत प्रसव कार्य में प्रगति लाएं

कलेक्टर डी. सिंह की अध्यक्षता में आज शुक्रवार को कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत गठित एवं संचालित जिला स्वास्थ्य समिति की विभिन्न जिला स्तरीय समितियो जिला स्वास्थ्य समिति-शासी निकाय एवं कार्यकारी समिति, मातृ एवं शिशु मृत्यु अंकेक्षण समिति, जिला गुणवत्ता निर्धारण समिति, साप्ताहिक ऑयरन फोलिक एसिड अनुपूरण कार्यक्रम एवं छत्तीसगढ़ रूरल मेडिकल कोर योजना समिति की बैठक आयोजित की गई।

उन्होने खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों एवं संस्थागत प्रसव कार्य में प्रगति लायें। उन्होने कहा कि शासकीय जिला चिकित्सालय में स्थापित पोषण पुनर्वास केंद्र में कुपोषित बच्चों को भर्ती कराकर लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। इस संबंध में महिला बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारियों और चिकित्सा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये गये। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत वर्ष 2019-20 हेतु जिला वार्षिक कार्य योजना का अनुमोदन किया गया।

बैठक में मुख्य स्वास्थ्य सूचकांक, निर्माणाधीन भवन विकास, मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य कार्यक्रम, मातृ एवं शिशु मृत्यु अंकेक्षण, जिला गुणवत्ता निर्धारण समिति, साप्ताहिक आयरन फोलिक एसिड अनुपूरण कार्यक्रम, जिला स्वास्थ्य स्कोर कार्ड, आयुष्मान भारत, मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान सहित अन्य स्वास्थ्य कार्यक्रमों की विस्तृत समीक्षा की गई।

बैठक में जिला कार्यक्रम प्रबंधक ने विभिन्न राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों की प्रगति की जानकारी दी। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आनंद मांझी, सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरके भुआर्य, जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी, डॉ. सिदार, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. आगरे, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. खैरवार, क्षय रोग अधिकारी डॉ. सुदेश रात्रे, खण्ड चिकित्सा अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

new jindal advt tree advt
Back to top button