लाॅकडाउन के दौरान आमजनों के लिए चौबीस घंटे जिला स्तरीय कंट्रोल रूम सक्रिय

फोन नंबर 07759-224608 पर फोन कर ली जा सकेगी सहायता

अरविन्द शर्मा:
कोरबा: कोरबा जिले में लाॅकडाउन के दौरान जिले वासियों को कोविड संबंधी स्वास्थ्य सेवाओं, अन्य मेडिकल सहायता, खाद्य सामग्री की सहायता या अन्य किसी भी प्रकार की सहायता के लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम सक्रिय है। कलेक्टोरेट परिसर में सिटी मजिस्ट्रेट कक्ष 23 में यह कंट्रोल रूम 24 घंटे कार्यशील है। कंट्रोल रूम की प्रभारी नोडल अधिकारी भू-अभिलेख शाखा की सहायक अधीक्षक सुश्री पूजा अग्रवाल हैं। सुश्री अग्रवाल का मोबाइल नंबर 99071-07808 है। इसके साथ ही कंट्रोल रूम के सहायक नोडल अधिकारी नजूल तहसीलदार श्री हरिशंकर यादव बनाए गए हैं। श्री यादव का मोबाइल नंबर 83196-41134 है। कंट्रोल रूम में कार्य संपादन के लिए सुबह छह बजे से प्रातः छह बजे तक के लिए तीन शिफ्ट में 12 कर्मचारी तैनात रहते हैं। कंट्रोल रूम में सहायता संबंधी सभी फोन काॅल्स का डिटेल पंजीबद्ध संधारित किया जा रहा है और संबंधित विभागों को त्वरित कार्रवाई के लिए भेजा जाता है।

होम आईसोलेटेड मरीजो की निगरानी और प्रबंधन के लिए काॅल सेंटर-सह-कंट्रोल रूम:

कंट्रोल रूम नंबर 07759-222720, 21, 22, 23, 24 पांचो नंबर चौबीस घंटे रहेेंगे सक्रिय – लक्षण रहित तथा कम लक्षण वाले कोरोना संक्रमित मरीजो को होम आईसोलेशन में रखकर डाॅक्टरों की निगरानी में घर पर ही इलाज किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा होम आईसोलेशन मे रहने वाले मरीजो की निगरानी एवं समन्वय और प्रबंधन के लिए चौबीस घंटे चलने वाले काॅल सेंटर-सह-कंट्रोल रूम को पुनः शुरू कर दिया गया है। जिला पंचायत कार्यालय कोरबा मे स्थापित जिला स्तरीय इस कंट्रोल रूम में इस बार पांच फोन स्थापित किए गए हैं। जिनका नंबर 07759-222720, 222721, 222722, 222723, 222724 है। इस कंट्रोल रूम मे चिकित्सा अधिकारी के साथ नर्सिंग स्टाफ एवं पैरामेडिकल स्टाफ की भी ड्यूटी लगाई गई है। होम आईसोलेशन की अनुमति देने के पूर्व मरीज के होम आईसोलेशन के पात्रता के संबंध मे जिला कंट्रोल रूम की टीम द्वारा आंकलन किया जा रहा है। होम आईसोलेशन की सम्पूर्ण अवधि के दौरान जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियुक्त स्वास्थ्यकर्मी प्रतिदिन होम आईसोलेटेड मरीज के अटेंडेंट से फोन के माध्यम से सम्पर्क में हैं। होम आईसोलेटेड मरीज मे सांस लेने मे कठिनाई, सीने मे दर्द, होठ या चेहरे का नीला पड़ना, आल्टर्ड सेंसोरियम जैसे गंभीर लक्षण विकसित होने पर मरीज के अटेंडेंट या परिजन कंट्रोल रूम मे दूरभाष के माध्यम से सूचना दे सकते हैं। ऐसे सभी गंभीर मरीजो के प्रबंधन एवं समन्वय के लिए रैपिड एक्शन टीम भी गठित किया गया है। गंभीर मरीज की सूचना कंट्रोल रूम मे प्राप्त होने पर रैपिड एक्शन टीम मरीज को कोविड केयर सेंटर या डेडिकेटेड कोविड अस्पताल तक पहुंचाएगी।

एमरजेंसी मेडिकल सर्विस नियंत्रण कक्ष भी बना: 93400-61471 पर कर सकते हैं संपर्क- लाॅकडाउन के दौरान होम आईसोलेशन में रह रहे लोगों को आपातकालीन चिकित्सा की जरूरत पड़ने पर भी जिला प्रशासन ने नियंत्रण कक्ष की शुरूआत की है। एमरजेंसी मेडिकल सर्विस के लिए 93400-61471 पर फोन कर मरीज ईलाज की सुविधा पा सकते हैं।
रैपिड एक्शन टीम भी बनी: 93400-61407 रहेगा संपर्क नंबर- कोरोना संक्रमण के दौरान किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा रैपिड एक्शन टीम भी गठित की गई है। किसी भी मरीज की तबियत बिगड़ने या अन्य स्वास्थ्यगत विपरीत परिस्थितियों में मरीज या उनके परिजन रैपिड एक्शन टीम के प्रभारी के संपर्क नंबर 93400-61407 पर फोन कर तत्काल सहायता पा सकते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button