छत्तीसगढ़

आस्था समिति के साथ दिव्यांगों ने विविध कार्यक्रम में दिखाया उत्साह

हिमांशु सिंह ठाकुर :- ब्यूरो कवर्धा

कवर्धा:

3 दिसंबर 2018 को ग्राम कोदवा कला विकासखंड पंडरिया के जिला कबीरधाम में मार्गदर्शक सेवा संस्थान के सहयोग से आस्था समिति, कवर्धा के द्वारा दिव्यांग दिवस के अवसर पर दिव्यांग उत्सव कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कार्यक्रम का प्रारंभ भारत के संविधान की उद्देशिका का वाचन कर किया गया। कार्यक्रम में दिव्यांगों के द्वारा रंगोली, मेहंदी प्रतियोगिता में भाग लेकर उत्साह दिखाया गया। कार्यक्रम में नाटक के माध्यम से दिव्यांगों को होने वाली समस्याओं और असुविधावों पर मंचन किया गया ।

दिव्यांग संगठन के ब्लॉक अध्यक्ष अंजोरी राम धुर्वे ने कहा कि हमें अनेक प्रकार की परेशानी होती है , शिक्षित व्यक्ति होते हुए भी हमें आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाता है। हमें पेंशन, दिव्यांग प्रमाण पत्र नहीं मिल पाता है।

दिव्यांग संगठन के सचिव भारती साहू द्वारा कहा गया कि दुनिया में अनेक लोग हैं । जो दिव्यांग हैं वो अपराध का सजा नहीं है। कुछ लोग जन्म से होते हैं , कुछ लोग दुर्घटना से दिव्यांग हो जाते हैं। इस प्रकार सभी दिव्यांगों को सम्मान मिलना चाहिये।

आस्था समिति के कार्यकर्ता चन्द्रकान्त यादव ने कहा कि दिव्यांग साथियों को संगठित होने की जरूरत है। सभी दिव्यांगों को एक दूसरे साथियों को मदद करना चाहिए। उन्होंने ने समुदाय आधारित प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की योजनाओं और कानूनों के बेहतर क्रियान्वयन के लिए जागरूक किया।

गांवों में दिव्यांगों को उचित अवसर और समता दिलाने के लिए प्रयास करते रहने की प्रेरणा दी। आस्था समिति कार्यकर्ता उमाशंकर कश्यप द्वारा जानकारी दिया गया की दिव्यांगता अधिनियम 2016 के तहत जो कोई भी दिव्यांग व्यक्ति का अपमान, उन पर हमला, यौन उत्पीड़न या क्षति पहुंचायेगा वह 6 महीने से 5 साल तक कारावास के साथ दंडित किया जाएगा साथ ही जुर्माना भी पा सकता है।

दिव्यांग व्यक्तियों के लिए किसी फायदे का कपटपूर्वक उपभोग करेगा या उसको करने का प्रयत्न करेगा, वह कारावास से जिसकी अवधि 2 वर्ष तक की हो सकेगी या जुर्माने से, जो एक लाख तक का हो सकेगा या दोनों से दंडित होगा।

दिव्यांग साथी रामगोपाल पंवरजली के द्वारा कहा कि दिव्यांग दिवस की जानकारी हमें पहली बार आस्था समिति के माध्यम से मिला है। संस्था को सभी दिव्यांगों ने धन्यवाद दिया कि इसी प्रकार हमें सदैव मार्गदर्शन देते रहे।

उन्होंने कहा कि सभी लोग एकजुट होकर कार्य करेंगे तभी हमारी समस्या का समाधान होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अतिथि चेतन चंद्राकर द्वारा बताया गया की दिव्यांग दिवस संयुक्त राष्ट्र संघ ने तय किया है।

जो 1993 से 3 दिसंबर को पूरे विश्व में मनाते चले आ रहे हैं। कार्यक्रम में क्षेत्र के 13 ग्रामों से – दामापुर, अतरिया, मौहामड़वा, निंगापुर, सेमरकोना, सोमनापुर, कुआंमालगी, सैहामालगी, प्राणखैरा, पटुवा, डोगरिया, पवरजली एवं अमलीमालगी से दिव्यांगजन उपस्थित रहे ।

20 दिव्यांग जनों को समाजसेवी मनोज साहू ग्राम कोदवा कला के द्वारा श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में कपिल धुर्वे सरपंच ग्राम पंचायत कोदवा कला, चेतन चंद्राकर सह संयोजक छत्तीसगढ़ सर्व मजदूर कल्याण समिति प्राणखैरा,

बृजभूषण तिवारी संचालक लक्ष्य पब्लिक स्कूल, अशोक सिंगरौल टेलर, आस्था समिति कार्यकर्ता चंद्रकांत यादव, उमाशंकर कश्यप, राकेश कश्यप, प्रवीण झारिया, कौशल बंजारे, दुर्गेश जायसवाल, पुरारी रधुवंशी, शिवराम साहू, आस्था समिति एंव छत्तीसगढ़ सर्व मजदूर कल्याण समिति के सदस्य एंव ग्रामीण उपस्थित हुए।

Summary
Review Date
Reviewed Item
आस्था समिति के साथ दिव्यांगों ने विविध कार्यक्रम में दिखाया उत्साह
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags