ज्योतिष

दिवाली: राशि के अनुसार

आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) छतरपुर मध्यप्रदेश:- सम्पर्क सूत्र:- 9131366453

राशि के अनुसार ऐसे करें माता लक्ष्मी को प्रसन्न, मिलेगा इच्छा के अनुसार फल दिवाली के शुभ अवसर पर विभिन्न सभी राशियों पर ग्रहों की चाल और महादशा-अन्तर्दशा प्रभाव पड़ता है।
दिवाली के शुभ अवसर पर विभिन्न सभी राशियों पर ग्रहों की चाल और महादशा-अन्तर्दशा प्रभाव पड़ता है। इसके अलावे समय-समय पर ग्रहों की चाल बदलती रहती है। इसलिए जरूरी है कि दिवाली में आप अपनी राशि और दशा के अनुसार उपाय कर इच्छा के अनुसार फल पा सकते हैं।

मेष राशि:- मेष राशि के जातक को दिवाली में लगातार पांच दिनों तक घर में गौ-मूत्र का छिड़काव करें। गाय को हरा चारा खिलाएं और पूजा के वक्त दूध या दही का तिलक लगाएं। दिवाली की रात दुर्गा चालीसा का पाठ जरूर करें। घर के पश्चिम दिशा में घी का दिया या फिर दक्षिण-पश्चिम कोने में सरसों तेल का दिया जलाएं।

वृष राशि:- वृष राशि दिवाली के दिन किसी मंदिर में केले के दो पेड़ लगाएं। हनुमान जी के मंदिर में सिन्दूर, लाल वस्त्र और मोतिचूर लड्डू का भोग लगाएं। दिवाली की रात कमलगट्टे की माला से ‘ऊँ ऐं क्लीं सौ:’ मंत्र का जाप करें। इसके अलावे हनुमान चालीस का पाठ करना अच्छा होगा।

मिथुन राशि:- मिथुन राशि वाले लोगों को चाहिए कि दिवाली के दिन अपने पिता, गुरु या किसी बुजुर्ग व्यक्ति को भेंट अवश्य दें। लक्ष्मी पूजा की रात पीपल के वृक्ष को जल अर्पित करके घी का दीपक जलाएं। लक्ष्मी जी की पूजा के लिए हलके नीले रंग के आसन पर बैठना अच्छा होगा। इस दी एक पान के पत्ते पर रोली या चंदन से लिखकर उसे अपनी तिजोरी में रखें।

कर्क राशि:- कर्क राशि वाले मन्दिर में जाकर दक्षिणा दान अवश्य करे, घर की दक्षिण दिशा में सरसों के तेल का दीपक जलाएं। दिवाली से लेकर छठ पूजा तक मांस और शराब का सेवन ना करें। लक्ष्मी जी की पूजा में रेवड़ियों या उजले तिल की मिठाई का माता लक्ष्मी को भोग लगाएं। दिवाली की रात शुभ मुहूर्त में किसी चौराहे पर गाय के गोबर का दीपक जलाकर रखें।

सिंह राशि:- सिंह राशि दिवाली की रात माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं। इस भोग वाले खीर को परिवार के सभी सदस्यों के बीच बांटे। किसी बरगद की जड़ में तिल तेल का दीपक जलाएं। पीले रंग के कपड़े में 11 हल्दी की गाठें बांधकर ‘वक्रतुण्डाय हुंम’ का 108 बार जाप कर के अगली दिवाली तक अपनी तिजोरी में रखें। धन की कमी महसूस नहीं होगी।

कन्या राशि:- कन्या राशि वाले जातकों को दिवाली की शाम शनि मंदिर में दीपक, तेल और काली उड़द का दान करना बेहद खास माना गया है। इसके अलावे दिवाली की रात की रात एक बड़ा घी का दीपक लेकर उसमें नौ बत्तियां जलाकर पूजा करें। घर के पश्चिम दिशा में 8 दिए जलाएं। दिवाली की रात किसी लक्ष्मी मंदिर कमल के फूल, नारियल और किसी सफेद मिठाई का भोग लगाएं। ऐसा करने से धन की परेशानियों से छुटकारा मिल जायेगा।

तुला राशि:- तुला राशि के जातक या जातिका दिवाली में पांच-छः दिनों तक गुस्सा बिल्कुल ना करें। किसी से भी मुफ्त में कोई भी चीज न लें, अगर कोई उपहार या भेंट मिलता है तो इसके बदले भेंट करें। दिवाली के दिन खास कर लक्ष्मी और गणेश की पूजा लाल वस्त्र, लाल फूल और लाल चन्दन से करें। इसके अलावे दक्षिण-पश्चिम कोने में सरसों तेल का दिया पूरी रात जलाएं। फिर कम से कम 11 बार महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करें।

वृश्चिक राशि:- वृश्चिक राशि के जातक दिवाली खासकर दिवाली के दिन नए रेशमी कपड़ा पहने साथ ही सुगंधित इत्र अवश्य लगाएं। किसी भी मंदिर में गणेश जी को गुड़ का भोग लगाएं। इसके अलावे पीतल के पात्र में थोड़ा शहद रखें और ढक्कन बंद कर इसे घर में रखें। घर के मुख्य दरवाजे पर दो घी के दीपक जलाएं। ‘ऊँ ऐं क्लीं श्रीं’ का जाप स्फटिक की माला पर करें।

धनु राशि:- धनु राशि दिवाली की रात में शुभ मुहूर्त में माता लक्ष्मी को नारियल चढाएं। मसालेदार खाना से परहेज रखें। किसी के साथ भी कड़वे वचन का प्रयोग नहीं करें। महिलाओं के साथ नम्रता के साथ पेश आएं। स्त्रियों क सम्मान करें और उनसे लक्ष्मी पूजा की रात दक्षिणावर्ती शंख से माता लक्ष्मी की पूजा करें और उसे लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखें।

मकर राशि:- मकर राशि के जातक को इस दिन सोना धारण करना अच्छा माना गया है। माथे पर केसर का तिलक लगाएं। किसी पंडित या जरुरतमंद आदमी को सवा किलो उरद का दान करें। खासकर दीपावली की शाम को पीपल के जड़ में तेल का पंचमुखी दीपक जलाएं। इस दिन अपनी माता या माता समान नारी के हाथों से चावल के कुछ दाने उपहार में लें। इस लाल रंग के वस्त्र में बांधकर तिजोरी में रखें।

कुम्भ राशि:- कुम्भ राशि के जातक या जातिका को दिवाली के दिन घर के मुख्य दरवाजे के दोनों ओर गाय के घी का दिया जलाएं। सूरदास यानि जो आंख से देखने में असमर्थ हैं उनके बीच मिठाइयां बांटें। लक्ष्मी-गणेश जी की पूजा के बाद शंख जरूर बजाएं। दिवाली की रात विशेष रूप से घर के दक्षिण-पश्चिम कोने में पूरी रात सरसों के तेल का दीपक जलाएं। घर के मंदिर में ‘श्री यंत्र’ की स्थापना करें।

मीन राशि:- मीन राशि के जातकों को चाहिए कि इस दिन पूजा के वक्त रेशमी वस्त्र धारण करें। साथ ही पूजा के समय रेशमी कपड़े का आसन बिछाएं। विशेषतौर पर दिवाली की रात को लाल रूमाल में नारियल बांधकर तिजोरी या गल्ले में रखें। इसके अलावे अपनी पुत्री को चांदी का नथ भेंट करना उत्तम माना गया है।

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button