DMK ने तूतीकोरिन हिंसा की तुलना ‘जालियांवाला बाग हत्याकांड’ से की तुलना

मंगलवार को स्टरलाइट कॉपर के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने फायरिंग कर दी, जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई

चेन्नई. तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर यूनिट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस की गोलीबारी का मामला अब गरमाता जा रहा है. तमिलनाडु में विपक्ष डीएमके ने तुतकोरिन की घटना को पंजाब के जालियांवाला बाग हत्याकांड से तुलना की है, जो ब्रिटिश हुकूमत के समय आज से करीब सौ साल पहले हुआ था, जिसमें निहत्थे लोगों पर अंग्रेजों ने गोलियां चलाई थी. बता दें कि मंगलवार को स्टरलाइट कॉपर के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने फायरिंग कर दी, जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गये. इतना ही नहीं, इस मामले में अब गृह मंत्रालय ने भी तमिलनाडु की सरकार से रिपार्ट की मांग की है.

तूतोकोरिन हिंसा की जांच के लिए मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने आदेश दे दिये हैं. प्रदर्शन कर रहे लोगों पर फायरिंग करने के आदेश की जमकर आलोचना हो रही है. मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने न्यायिक जांच के आदेश दिये और कहा कि मौके पर ऐसी परिस्थिति बनी, जिसे टाला नहीं जा सका. वहीं, पुलिस ने दावा किया कि भीड़ हिंसात्मक हो गई, उसके बाद ओपन फायरिंग करनी पड़ी.

new jindal advt tree advt
Back to top button