डीएमके अब कभी भाजपा के साथ गठबंधन नहीं करेगी -एम.के स्टालिन

प्रमुख एम.के स्टालिन ने प्रधानमंत्री मोदी पर पलटवार करते हुए कहा

नई दिल्ली: तमिलनाडु में पांच जिलों के बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि नब्बे के दशक में पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा शुरू की गई सफल गठबंधन राजनीति को याद किया और कहा कि भाजपा के दरवाजे हमेशा खुले हैं।

बीस साल पहले दूरदर्शी नेता अटलजी भारतीय राजनीति में नई संस्कृति लाए थे जो कि सफल गठबंधन राजनीति की संस्कृति थी। उन्होंने क्षेत्रीय आकांक्षाओं को सर्वाधिक महत्व दिया। अटलजी ने जो रास्ता हमें दिखाया था, भाजपा उसी पर चल रही है।

इसी कड़ी में द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) प्रमुख एम.के स्टालिन ने प्रधानमंत्री मोदी पर पलटवार करते हुए कहा है कि डीएमके अब कभी भाजपा के साथ गठबंधन नहीं करेगी और मोदी वाजपेयी नहीं है। उनके नेतृत्व में गठबंधन अच्छा नहीं है और यह विडंबना है कि वह खुद अपनी तुलना पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी से कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री एक कार्यकर्ता के इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या भाजपा अन्नाद्रमुक, द्रमुक या रजनीकांत की पार्टी के साथ गठबंधन करेगी। रजनीकांत ने अभी अपना राजनीतिक दल नहीं बनाया है।

भारतीय जनता पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में तमिलनाडु में पीएमके, एमडीएमके समेत छोटे-छोटे क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन किया था और 39 में से दो सीटों पर जीत दर्ज की थी जिसमें से एक सीट पार्टी ने और दूसरी पीएमके ने जीती थी। हालांकि, बाद में सभी पांचों दलों ने भाजपा से रिश्ते तोड़ लिए थे।

1
Back to top button