कोरोना संक्रमित होने पर डरे नहीं, समुचित इलाज की है व्यवस्था : कलेक्टर

लाॅकडाउन के नियमों का करें पालन, पात्र होने पर वैक्सीन जरूर लगवाएं

  • कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अंतरराज्यीय चेक पोस्टों पर थर्मल स्क्रीनिंग के साथ की जा रही है जांच
  • अनाधिकृत वाहनों को नहीं दिया जा रहा प्रवेश

बलरामपुर 29 अप्रैल 2021: बलरामपुर-रामानुजगंज जिला झारखण्ड, उत्तरप्रदेश एवं मध्यप्रदेश राज्य से अपनी सीमा साझा करता है। तीन राज्यों की सीमा से जुड़े होने के कारण जिले में अनियंत्रित आवागमन से संक्रमण के फैलने की आशंका बढ़ जाती है। बढ़ते कोविड संक्रमण को देखते हुए जिले में 5 मई तक लाॅकडाउन लगाया गया है तथा सीमावर्ती चेकपोस्टों से अनाधिकृत वाहनों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। साथ ही संक्रमण की रोकथाम के लिए तीनों राज्यों से लगने वाले चेकपोस्टों में कोरोना की जाँच की जा रही है।

एहतियात के तौर पर थर्मल स्क्रीनिंग के साथ-साथ रैपिड एण्टीजन टेस्ट भी किया जा रहा है। शासन के मंशानुरूप जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 के नियंत्रण तथा संक्रमितों के उपचार के लिए जरूरी व्यवस्था सुनिश्चित करने के साथ ही संक्रमण के वाहकों को चिन्हित कर उन्हें पृथक करने का प्रयास जारी है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी गाईडलाईन अनुसार कोरोना पाॅजीटिव केस पाये जाने वाले क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन भी बनाये जा रहे हैं।

कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए कड़ाई से नियमों को लागू करना उचित एवं आवश्यक हो गया है। इसलिए कलेक्टर धावड़े ने अंतर्राज्यीय चेकपोस्टों पर वाहनों की जांच एवं नियमानुसार आवाजाही, सीमावर्ती क्षेत्रों एवं सभी चेक पोस्ट में 24 घंटा निगरानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा है।

विशेष कोविड अस्पताल 

साथ ही साथ जिला प्रशासन द्वारा वाड्रफनगर स्थित विशेष कोविड अस्पताल में आवश्यक व्यवस्थाओं की 24 घंटे उपलब्धता सुनिश्चित की गई है तथा कोविड 19 के किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रशिक्षित चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ के लिए पर्याप्त सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाये गये हंै। साथ ही कोविड केयर सेन्टर आरागाही में भी आॅक्सीजेनेटेड बेड की व्यवस्था की गई है, जहां प्रशिक्षित चिकित्सकों द्वारा संक्रमितों का उपचार किया जा रहा है। होम आइसोलेशन में भी लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जा रही है तथा बड़ी संख्या में संक्रमित व्यक्ति उपचार उपरांत ठीक भी हो रहे हैं।

कलेक्टर श्याम धावड़े 

कलेक्टर श्याम धावड़े ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस से लड़ाई में स्वास्थ्य कर्मी हमारे प्रथम पंक्ति के योद्धा हैं, उनकी सभी आवश्यकताओं की पूर्ति करना तथा उनसे स्नेहपूर्ण व्यवहार करना हमारी जिम्मेदारी है। साथ ही कलेक्टर श्री धावड़े ने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा है कि वें कोरोना से बचाव के के लिए मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, हाथों को बार-बार धोएं और अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकले। लाॅकडाउन मानवीय सुरक्षा के दृष्टिकोण से आवश्यक था एवं धैर्य, संयम और सुरक्षा के साथ ही इस महामारी से लड़ा जा सकता है। आप सभी कोरोना के नियंत्रण हेतु प्रशासन का सहयोग करते हुए नियमों का पालन करें।

उन्होंने कोरोना के सामान्य लक्षण दिखने पर तुरंत जांच कराने तथा रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर बिल्कुल भी न घबराने की बात कही है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी सुविधाओं के साथ कोविड-19 के उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की गई हैं। साथ ही साथ उन्होंने आमजनों से अपील करते हुए बिना डर-भय के कोविड-19 का वैक्सीन लगाने को भी कहा है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button