रायबरेली में बोलीं सोनिया गांधी, 2004 को न भूलें, वाजपेयी जी अजेय थे, लेकिन हम जीते

रायबरेली में बोलीं सोनिया गांधी, 2004 को न भूलें, वाजपेयी जी अजेय थे, लेकिन हम जीते

नई दिल्ली। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने गुरुवार को रायबरेली से नामांकन दाखिल करने से पहले कहा कि साल 2004 को न भूलें। वाजपेयी जी अजेय थे लेकिन जीत हमें मिली। सोनिया गांधी ने यह जवाब उस सवाल पर दिया, जिसमें उनसे पूछा गया था कि क्या वह सोचती हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी अजेय हैं।

भाषा के अनुसार, इसके अलावा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री मुझसे बहस करने की चुनौती स्वीकार कर लेंगे, उस दिन दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

वहीं, सोनिया गांधी ने रायबरेली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से अपना नामांकन दाखिल करने से पहले गुरुवार को पूजा अर्चना की। सोनिया गांधी ने अपने परिवार के लोगों के साथ यहां कांग्रेस कार्यालय में पूजा और हवन किया। बेटे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा भी पूजा के समय उनके साथ बैठे नजर आये। पूजा अर्चना के बाद सोनिया गांधी ने कलेक्ट्रेट तक के लगभग 700 मीटर के रास्ते पर ‘रोडशो’ किया।

बता दें कि रायबरेली लोकसभा सीट के लिए मतदान पांचवे चरण के तहत छह मई को होगा। सोनिया गांधी का मुकाबला दिनेश प्रताप सिंह से है, जो कांग्रेस छोडकर हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं। सपा और बसपा ने रायबरेली से उम्मीदवार नहीं उतारा है। सोनिया इस सीट पर 2004, 2006 :उपचुनाव:, 2009 और 2014 में विजयी रही हैं।

Back to top button