छत्तीसगढ़

फर्जी पत्रकार बनकर अवैध वसूली, कार्रवाई को लेकर डॉक्टर एसपी से मिले

-पुलिस अधीक्षक ने कहा-सभी आरोपियों पर जल्द होगी कार्रवाई

मुंगेली।

मुंगेली जिले के लोरमी क्षेत्र में पत्रकार के नाम से वसूली करने वालों का गिरोह सक्रिय था । इसी गिरोह वालों ने दो सरकारी डॉक्टरों को ही अपना शिकार बनाया। लगातार शिकायत मिलने से लोरमी प्रेस क्लब के द्वारा थाने में ज्ञापन सौंप कर वसूली कर रहे पत्रकारों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई थी। समाचार पत्रों में प्रकाशित होते ही लूट के शिकार हुए दो सरकारी डॉक्टरों ने नामजद रिपोर्ट लोरमी थाने में दर्ज कराई।

-डरा धमका कर पैसे की वसूली

जिसमें सहायक प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. श्रवण कुमार जायसवाल व डॉ. श्रवण कुमार लझीवार जो कि दोनों सरकारी डॉक्टर हैं। उन्होंने 4 अगस्त को लोरमी थाने में आकर शिकायत दर्ज कराई कि मोहित राम जाटवर एवं उनके चार सहयोगियों के द्वारा शासकीय अस्पताल में आकर डरा धमका कर पैसे की वसूली की गई।

-अभद्रपूर्ण व्यवहार करने का भी आरोप

जिसमें डॉ.श्रवण कुमार जायसवाल से चार हजार रुपए व डॉ.श्रवण कुमार लझीवार से पांच हजार रुपए ले लिया गया। दोनों सरकारी डॉक्टर लोरमी थाने में आकर बताया कि मोहित जाटवर व उनके साथियों के द्वारा 21/07/2018 को डॉ. श्रवण जायसवाल निवासी बोड़तरा के घर में बल पूर्वक घुसकर घर में काम कर रही मंजू यादव के साथ अभद्रपूर्ण व्यवहार करते हुए गाली गलौज भी किया।

– ऐसे करते थे वसूली

साथ ही मोहित जाटवर ने मंजू का हाथ पकड़ कर दीवाल किनारे खड़ा कर दिया। मोहित जाटवर के और चार साथी खुले घर में घुस कर तलासी लेने लगे। साथ ही मंजू यादव का फोटो भी अपने कैमरे में कैद कर लिए। उसके पश्चात पांचों ने मंजू को धमकाते हुए डॉ. श्रवण का मोबाइल नंबर मांगा। नंबर मिलते ही डॉक्टर को फोन किया और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खैरवार खुर्द आ गए। वहां पहुंच कर डॉ. श्रवण जायसवाल को धमकाने लगे और वहीं पर काम कर रहे सरकारी कर्मचारी के हाथ से सरकारी रजिस्टर को छीन लिए।

-पैसे नहीं देने पर देते थे धमकी

मोहित जाटवर और उनके साथियों के इस हरकत से पूरा स्टॉप डर गया। उसी उपरान्त मोहित जाटवर ने आठ हजार रुपए की मांग की। तब श्रवण ने कहा कि इतने पैसे मेरे पास नहीं है तो पांचों साथियों उन्हें डराने धमकाने लगे।

-सरकारी डॉक्टर को भी बनाया शिकार

तब डॉक्टर श्रवण ने बोड़तरा में संचालित नवनीत मेडिकल के संचालक को फोन कर चार हजार रुपए देने के लिए कहा जाते जाते मोहित जाटवर व उनके साथियों ने कहा कि अगर इस बारे में किसी को कुछ बताए तो अंजाम बुरा होगा। यह कहते हुए खैरवार खुर्द से चले गए। बोड़तरा पहुंच कर नवनीत मेडिकल के संचालक राजेश जायसवाल से चार हजार रुपए ले लिए। ये पांचों यही नहीं रुके उन्होंने रात सात बजे एक और सरकारी डॉक्टर को अपना शिकार बनाया।

-पीड़ित डॉक्टर ने क्या कहा-जानें

शिकार बने डॉक्टर श्रवण कुमार लझीवार ने बताया कि जब मैं अपने सरकारी अस्पताल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र राम्हेपुर(एन) से लौट कर अपने घर बोड़तरा पहुंचा तो उसी दौरान लाल कलर की चार चक्के वाहन से पांच लोग मेरे घर पर पहुंचे। पहुंचते ही पांचों ने मुझे धमकाते हुए कहा कि तुम अपने ड्यूटी पर नही ंरहते हो जब मैंने कहा कि मैं अभी अपनी ड्यूटी से आ रहा हूं।तब उसमें से एक ने अपना नाम मोहित जाटवर बताते हुए कहा कि ज्यादा सवाल जवाब मत करो। और हमें पांच हजार रुपए दो। मेरे पास पैसे नहीं है इतने में पांचों ने मुझे बहुत डराया और धमकाया।

-पांच हजार चसूलने के बाद भी दी धमकी

तब मैं अपने घर में नाना जी से पांच हजार रुपए लेकर उनको दिया। जाते जाते मोहित जाटवर व उनके साथियों ने कहा कि हम 15 अगस्त में फिर आएंगे और इस बार दस से पंद्रह हजार रुपए का व्यवस्था करके रखना। यह कहते हुए पांचों वहा से चले गए।

-धारा 384/34 के तहत पांचों पर होगी कार्यवाही

मुंगेली जिला के पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर ने कहा कि पांचों आरोपियों के खिलाफ धारा 384/34 के तहत कार्यवाही की जाएगी। साथ ही जांच में और भी कुछ पुष्टि होती हैं तो उसके अनुसार धाराएं और भी लगाई जाएंगी।

एसपी में शिकायतकर्ताओं को आश्वस्त करते हुए कहा कि अगर कोई भी इस तरह घटना को अंजाम देता है तो कानून उन्हें नहीं छोड़ेगा। दोनों सरकारी डॉक्टरों ने एसपी से कहा कि इस तरह के हरकतों से हम बहुत ज्यादा सदमें में है और हमेशा हमें डर बना रहता है। जिससे हमें अपने कार्य में काफी तखलीफ हो रही है जिस पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जल्द ही आरोपी सलाखों के पीछे होंगे। घबराने की जरूरत नहीं है।

-भोले-भाले ग्रामीण सहित सरपंच सचिव को बनाते हैं अपना शिकार

क्षेत्र में हो रहे अवैध वसूली की जानकारी जब ग्रामीणों को हुआ तब उन्होंने बताया कि लगभग दो तीन वर्षों से ये पांचों लोग क्षेत्र में घूम-घूम कर अवैध वसूली कर रहे हैं और अधिक्तर इन लोग गांव के सरपंच सचिव व झोलाछाप डॉक्टर सहित महिलाकर्मियों को अपना शिकार बनाते है। अगर इन पर कार्यवाही नहीं कि गई तो निश्चित ही ये लोग बड़ी घटना को अंजाम दे सकते है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
फर्जी पत्रकार बनकर अवैध वसूली, कार्रवाई को लेकर डॉक्टर एसपी से मिले
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags