बड़ी खबरमध्यप्रदेशराजनीति

डॉक्टर्स-डे : मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री चौहान ने ‘किल कोरोना अभियान’ की शुरुआत की

कोरोना के खिलाफ इतना बड़ा सर्वे देश में कहीं नहीं हुआ-CM चौहान

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में डॉक्टर्स-डे पर ‘किल कोरोना अभियान’ की शुरुआत की। इस कार्यक्रम में स्थानीय सांसद साध्वी प्रज्ञा, हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा और गोविंदपुरा विधायक कृष्णा गौर भी मौजूद रहे। हालांकि, इसमें प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा मौजूद नहीं थे। बताया जा रहा है कि वह दिल्ली में हैं।

दो गज की दूरी,चेहरे पर फेसकवर मास्क जरूरी-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने मंत्र देते हुए कहा- दो गज की दूरी,चेहरे पर फेसकवर मास्क जरूरी। अनलॉक होने के बाद बाजार खुले हैं और खुलना भी चाहिए। इसके बगैर जिंदगी नहीं चलेगी, लेकिन हमें सावधान रहने की जरूरत है। सोशल डिस्टेंसिंग रखनी होगी, मास्क पहनना होगा। ये लड़ाई कोरोना से है, हारेगा कोरोना, भागेगा कोरोना। कार्यक्रम समन्वय भवन में हुआ। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज ने सार्थक लाइट एप की लांचिंग भी की। इस एप के जरिए लोग फीडबैक दे पाएंगे, साथ ही डॉक्टर और सर्वे टीम इसमें फीडिंग करेगी।

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि कोरोना को जड़ से मिटाएंगे, घर-घर हमारे लोग पहुंचेंगे। लक्षण आने पर हम सबसे पहले घर में जांच करेंगे। ये लड़ाई केवल सरकार और प्रशासन की नहीं है, लोगों के बगैर कोई लड़ाई जीती नहीं जा सकती है। कोरोना के खिलाफ इतने बड़े और व्यापक पैमाने पर सर्वे देश में कहीं नहीं किया गया होगा। हर घर में स्क्रीनिंग करेंगे, टेस्टिंग करेंगे और ये समाज और आप सबके सहयोग से ही पूरा हो सकता है। ‘किल कोरोना अभियान’ में डोर-टू-डोर सर्वे के लिए पूरे प्रदेश में 11 हजार 458 सर्वे टीम लगाई गई हैं। प्रत्येक टीम को नॉन कॉन्टैक्ट थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर और जरूरी प्रोटेक्टिव गियर दिया गया है। अभियान 15 जुलाई तक चलेगा।

शिवराज सिंह ने कहा – डॉक्टर धरती के भगवान हैं

शिवराज सिंह ने कहा कि डॉक्टर्स डे पर मैं उन सभी डॉक्टरों को प्रणाम करता हूं। जिन्होंने दिन-रात लगातार कोरोना संक्रमण से प्रभावित लोगों की सेवा में लगे रहे। परिवार से मिलने नहीं गए, घर में लाड़ली लक्ष्मी आई तो 15 दिन उसका चेहरा भी नहीं देख पाए। डॉक्टर तो धरती के भगवान हैं। उन्होंने कोरोना संकट में इस बात को साबित भी किया है। प्रदेश में न केवल डॉक्टर्स नहीं, हमारी नर्सें, वार्ड ब्वॉय, आशा बहनों ने सेवा की एक नई मिसाल कायम की है।

पूरे प्रदेश में मोर्चे पर डटे रहे और संक्रमित हो गए। डॉक्टर्स संक्रमित हुए, रेवेन्यू अफसर-कर्मचारी संक्रमित हुए। ऐसे उन सभी योद्धाओं को मैं हाथ जोड़कर प्रणाम करता हूं। सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भी गजब किया है, भोजन वितरण से लेकर राशन वितरण तक लेकर। वह हर तरह से जुटे रहे, मैं उनको भी नमन करता हूं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button