छत्तीसगढ़

आश्वासन से पेट नहीं भरता, अनाज से भरता है – शिक्षाकर्मी संघ

रायपुर. शिक्षाकर्मियों के वेतन का इंतज़ार इन्ही तारीख पे तारीख फिल्मी डायलॉग की तरह हो गया है। जब भी वेतन भुगतान की बात होती है, अफसरों की तरफ से शिक्षाकर्मी नेताओं को आश्वासन के इसी फीकी टॉनिक के साथ चुप करा दिया जाता है।

होली नहीं मनाने के शिक्षाकर्मी के एलान के बाद एक बार फिर से शिक्षाकर्मी मोर्चा के प्रांतीय संचालक संजय शर्मा को 2 से 3 दिन के भीतर वेतन भुगतान का आश्वासन दिया है। लेकिन सरकार के इस आश्वासन पर शिक्षाकर्मियों ने सवाल उठाया है। शिक्षाकर्मियों ने पूछा है कि आखिर अफसर ये क्यों नहीं समझते की आश्वासन से पेट नहीं भरता, अनाज से भरता है, जिसे खरीदने के लिए पैसे की जरूरत होती है, जो पिछले तीन महीने से उनके पास नहीं है। दरअसल वेतन आबंटन जारी नही होने से नाराज शिक्षा कर्मियों ने इस बार होली नहीं मनाने का निर्णय लिया था। ये खबर प्रशासन तक भी पहुंची।

शिक्षक मोर्चा के प्रदेश संचालक संजय शर्मा ने प्रमुख सचिव शिक्षा विकासशील से फोन से चर्चा की। विकासशील के मुताबिक 3 दिन में वेतन आवंटन जारी हो जाएगा। उन्होंने बताया कि वित्त विभाग से आवंटन सर्व शिक्षा अभियान को जाएगा तथा सर्व शिक्षा अभियान द्वारा 2 दिन के अंदर प्रक्रिया पूर्ण कर वेतन आवंटन संबंधित जनपद पंचायतों को जारी किया जाएगा।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *