राष्ट्रीय

केरल में श्वान बना ‘भगवान’, पूरे परिवार पर नहीं गिरने दी चट्टान

- मौत के मुंह में जाने से बचा लिया सोते परिवार को

इडुक्की।

केरल के इडुक्की बांध से छोड़ा गया पानी रास्ते में पड़ने वाली चीजों के लिए किसी तबाही से कम नहीं था। राज्य में प्राकृतिक आपदा के चलते अब तक 37 लोगों की जान चली गई जबकि 35 हजार से ज्यादा लोगों को अपना घर छोड़कर राहत शिविरों में शरण लेनी पड़ी। लेकिन इन सभी के बीच एक परिवार का पालतू श्वान उनके लिए ‘भगवान’ बन गया और उनकी जिंदगी बचा ली।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते गुरुवार को इडुक्की जिले के कांजीकुझी गांव में मोहनन पी अपने परिवार के साथ घर में गहरी नींद सो रहे थे। रात के अंतिम पहर करीब 3 बजे उनके पालतू श्वान रॉकी ने तेज-तेज भौंकना शुरू कर दिया और कई बार मना करने के बावजूद भी जब वो करीब घंटे भर तक भौंकता रहा तो मोहनन को नींद से उठना पड़ा। मोहनन ने फिर भी रॉकी को चुप कराने की कोशिश की लेकिन वो और तेज भौंकने लगा।

मीडिया से बातचीत में मोहनन ने कहा, “वो काफी अजीब तरह से चिल्ला रहा था। इससे हमें कुछ हैरानी हुई। इसके बाद हमें लगा कि कुछ तो गड़बड़ है। मैंने घर से बाहर जाकर देखा और फिर हमें घर छोड़कर बाहर भागना पड़ा। जब मोहनन और उसके घरवाले घर से बाहर निकलकर रॉकी को देखने पहुंचे, तब उन्हें उनकी तरफ बढ़ती तबाही के बारे में पता चला। खिसकती चट्टान में उनका घर तबाह हो जाता, इससे पहले ही सभी लोग पलक झपकते ही भाग निकले। रॉकी को लेकर सभी लोग नजदीकी राहत शिविर में पहुंच गए।

Summary
Review Date
Reviewed Item
केरल में श्वान बना 'भगवान', पूरे परिवार पर नहीं गिरने दी चट्टान
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
jindal