छत्तीसगढ़

क्षेत्र में खुलेआम ग्राहकों को लूटते नजर आते हैं घरेलू गैस एजेंसी संचालक

दीपक वर्मा:

अभनपुर: सरकार द्वारा आम लोगों की सुविधा के लिए घरेलू गैस को घर पहुंच सेवा देने का नियम जारी किया गया, जिसमें घरेलू गैस एजेंसी द्वारा घर-घर पहुंचकर ग्राहकों को उचित मूल्य पर गैस सिलिंडर देने का प्रावधान है पर घरेलू गैस एजेंसी संचालक द्वारा लगातार क्षेत्र में खुलेआम ग्राहकों को लूटते नजर आते हैं।

आपको बता दें कि घरेलू गैस का दाम घर पहुंच सेवा और उनके गोदाम पर लेने में महज 25 से 30 रुपये का अंतर होता है पर गैस एजेंसी संचालक द्वारा अपने कार्यालय में भी घर पहुच निर्धारित मूल्य पर देते है इस सम्बंध में लगातार अधिकारियों को शिकायत देने के बाद भी उस परअभी तक न तो कोई जांच किये और न ही कार्यवाही करते नजर आते इससे यही कहा जा सकता है कि खाद विभाग के अधिकारी गैस एजेंसी संचालकों पर मेहरबान नजर आते हैं।

संचालक द्वारा लगातार जनता को लूटते रहते हैं जी आपको बता दें कि इस संबंध में रायपुर जिला खाद्य नियंत्रक और गरियाबंद खाद्य नियंत्रक को शिकायत देने के बाद भी अभी तक एजेंसी संचालक पर कोई जांच किया नही गया है और ना ही कोई कार्यवाही किया गया है इससे साफ साफ नजर आता है कि खाद्य विभाग के अधिकारी किस तरह इन गैस एजेंसी संचालक पर मेहरबान हैं।

साथ ही गरीब ग्राहकों के जेब से खुले आम गैस एजेंसी संचालक द्वारा 25 से 30 रुपये अधिक लेकर लूटते नजर आते हैं। साथ ही गैस एजेंसी संचालक द्वारा अपने गोदाम पर गैस भंडारण न रख रहवासी इलाके पर अपने कार्यालयों में रखते है जो कभी भी लोगो के लिये जान जोखिम भरे और जानलेवा हो सकता है पर नगर व सम्बंधित विभाग के अधिकारी के मिलीभगत से ही यह कार्य संचालित माना जा सकता है जो जनहित को न देख, अधिकारियों द्वारा स्वहित की ओर ज्यादा नजर है।

आपको बता दें कि इसी संदर्भ में पूर्व में नवापारा नगर पत्थर खदान के संचालक द्वारा अपने घर मे बारूद रखे जाने पर उस पर कार्यवाही किया गया था । पर सड़को में खुले आम इस तरह के गैस रखने पर कोई कार्यवाही न करना भी इन अधिकारियों की कार्य शैली पर प्रश्न उठता है।

साथ ही संचालक द्वारा लगातार खुला और आवास इलाके में विस्फोटक जैसे ज्वलनशील गैस जो रखे रहते हैं जो कि नियमतः उन्हें अपने गोदाम में रखना होता है पर अभी तक शिकायतों के बाद भी न ही रायपुर खाद्य नियंत्रक व गरियाबंद खाद्य न हीं जांच किया गया है और ना ही कार्रवाई करते हैं वहीं खाद्य अधिकारी क्षेत्रों में नजर भी नहीं आते। और न हीं उनका संपर्क नंबर इन गैस एजेंसी में लिखा रहता है ।

इस तरह खुले आम ग्राहकों के जेब से महज 25 से 30 रुपये गैस एजेंसी संचालकों द्वारा आपने कार्यालय से गैस देकर खुलेआम लूटते देखा जा सकता है। जो कि नियमतः गैस एजेंसी संचालको को घर पहुच देना है और अगर ग्राहक गोदाम में गैस लेता है तो महज 25 से 30 रुपये कम ऐजेंसी संचालको को लेना होता है पर ऐसा कोई छूट न देकर खुले आम ग्राहकों को लूटते आ रहे है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button