छत्तीसगढ़

डॉ अनिल प्रताप सिंह ने दी नगरवासियों को सोनोग्राफी सेंटर की सुविधाएं

गर्भवती महिलाओं को लम्बी दूरी तय करने से मिला छुटकारा

अरविन्द शर्मा:
कटघोरा: इंसान को जीवन मे कभी ना कभी स्वास्थ्य सेवाओं की जरूरत महशुस होती ही है।अब ऐसी जरूरत में अगर स्वास्थ्य सेवाएं नजदीक हो तो काफी हद तक लोगो को समय पर ईलाज मिल जाता है अन्यथा लोगो को इलाज के लिए दर दर भटकना पड़ता है।सरकार ने कटघोरा में करोड़ो की लागत से स्वास्थ्य केंद्र की बिल्डिंग तो बना दी पर यहाँ मेडिकल सुविधा आज भी लोगो को मुहैया नही हो सकी,मरीज आज भी ईलाज के अभाव में दूरस्थ इलाको में भटकने को मजबूर हैं। डॉक्टरों की कमी हमेशा शहरवासियों को निराश करती रही है।शहर में एक बड़ी समस्या गर्भवती महिलाओं के लिए सोनोग्राफी सेंटर की सालो से बनी हुई है पर आज तक शासकीय स्वास्थ्य अमले द्वारा अस्पताल में इस ओर कोई कदम नही उठाया गया है।जिसके लिए लोगो को शहर से दूर 30 km कोरबा काफी मुशीबतों भरा सफर तय कर जाना पड़ता है।इस दौरान डॉ अनिल प्रताप सिंह ने कटघोरवासियो की समस्या को भलीभांति समझा और शहर में सोनोग्राफी सेंटर की नींव रखी। शहर में सोनोग्राफी सेंटर खुल जाने से नागरिकों में खुशी हुई और उन्हें एक लंबे सफर व दुर्गम रास्तों से छुटकारा मिला।

डॉ अनिल प्रताप जी ने जब से शहर में यह सेंटर संचालित किया है तब से गर्भवती महिलाओं के लिए यह सोनोग्राफी सेंटर वरदान साबित हुआ है।यहाँ शहर के आसपास मौजूद ग्रामीण इलाकों से भी महिलाओं को लाभ मिल रहा है।डॉ सिह जी गर्भवती महिलाओं की समस्याओ भलीभांति समझते हैं और समय पर सेंटर पहुच कर अपनी सेवाएं प्रदान करते हैं।

शहर में सोनोग्राफी सेंटर हो जाने से सभी जरूरतमन्दों को समय पर सोनोग्राफी की सेवाएं मिल पा रही है।पूर्व में सोनोग्राफी के लिए 30 किलोमीटर दूर का सफर तय कर कोरबा जाना पड़ता था जहाँ गर्भवती महिलाओं के लिए यह सफर किसी अग्निपरीक्षा से कम नही होता था।ग्रामीण बताते हैं कि अब शहर में सोनोग्राफी सुविधा मिल जाने से काफी हद तक तकलीफ कम हो गई है अब समय पर सुविधा मिल जाती है और आनेजाने में किसी भी प्रकार का तनाव भी नही रहता है।यहाँ डॉ अनिल प्रताप जी गर्भवती महिलाओं को अच्छी सेवाए देने के साथ उचित मार्गदर्शन भी करते हैं।डॉ निर्धारित समय से अपनी सेवाएं मरीजो को देते हैं ताकि किसी भी गर्भवती महिला को किसी असुविधा का सामना ना करना पड़े और वह पूरी तरह सुरक्षित महसूस करे।

डॉ अनिल प्रताप सिंह अपने कार्यो में बेहद सजग व सुलझे हुए व्यक्ति हैं अधिक से अधिक समय मरीजो को देते हैं।कोरोना वायरस के भीषण संकटकाल में भी अपनी जान की परवाह ना करते हुए महिलाओं को समय पर सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।ऐसे हालातो में गर्भवती महिलाओं को कटघोरा में सोनोग्राफी की सेवाएं मिल जाना ही अपने आप मे एक बड़ी उपलब्धि है।जब डॉ अनिल जी से सेवाओ के विषय पर रुबरू होना चाहे तो डॉ साहब किसी कारणवश समय नही दे पाए दरअसल उस समय सेंटर में जरूरतमंद गर्भवती महिलाओं को सोनोग्राफी की अत्यंत आवश्यकता थी और इस दौरान डॉ साहब के लिए समय निकालना संभव नही था। लिहाजा डॉ साहब के कार्यो का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि डॉ साहब पहली प्राथमिकता उन जरूरतमंद गर्भवती महिलाओं को देते हैं जिन्हें उनकी आवश्यकता है ,यही एक सफल डॉ की पहचान भी दर्शाता है।

पहले सोनोग्राफी के लिए दूर कोरबा जाना पड़ता था,अब कटघोरा में यह सुविधा हो गई है तो बहुत अच्छा लगता है।डॉ साहब भी समय पर सेवाएं देते हैं।कोरबा की सड़कों का बहुत बुरा हाल है और इन सड़को पर सफर करके कोरबा जाकर सोनोग्राफी करवाना किसी अग्निपरीक्षा से कम नही,
-जरूरतमंद –

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button