छत्तीसगढ़

डाॅ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना तथा आयुष्मान भारत कार्ड से होगा निःशुल्क ईलाज 34 स्वास्थ्य केन्द्रों में बनाये जा रहे हैं कार्ड

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा
संवाददाता : शिव कुमार चौरसिया

बलरामपुर 05 जनवरी 2021: आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना व डाॅ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना अंतर्गत जिला बलरामपुर में 34 शासकीय चिकित्सालयों में कार्ड बनाने की सुविधा उपलब्ध हैं। योजना अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को 5 लाख रुपये तथा सामान्य परिवारों को 50 हजार रूपए तक की निःषुल्क ईलाज की सुविधा पंजीकृत शासकीय/निजी चिकित्सालय में केवाईसी के उपरांत मिलेगी।

पात्र परिवार ईलाज की आवष्यकता होने पर डाॅ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना व आयुष्मान भारत कार्ड से किसी भी पंजीकृत शासकीय/निजी चिकित्सालय में योजना के दिषा निर्देषानुसार इलाज करवाकर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत पात्रता, सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना 2011 के तह्त चिन्हित परिवार है जिनका निःषुल्क ईलाज हेतु रु. 5 लाख तक प्रतिवर्ष का कार्ड बनाया जाता हैं।

वहीं डाॅ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना अंतर्गत पात्रता राज्य के समस्त राषन कार्डधारी परिवार हैं जिसके अंतर्गत अन्त्योदय/प्राथमिकता राषन कार्डधारी परिवारों को रु. 5 लाख तक प्रतिवर्ष स्वास्थ्य सहायता व एपीएल राषन कार्डधारी परिवारों को रु. 50 हजार तक प्रतिवर्ष स्वास्थ्य सहायता का कार्ड बनाया जा रहा है।

जिला चिकित्सालय बलरामपुर

बलरामपुर-रामानुजगंज में जिला चिकित्सालय बलरामपुर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामानुजगंज, वाड्रफनगर, राजपुऱ, शंकरगढ़, कुसमी व 28 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र समेत कुल 34 स्थानों पर आयुष्मान मित्र बैठाए गए है, जहां आने वाले समस्त ओ.पी.डी. एवं आई.पी.डी. के मरीजों का ई-कार्ड पंजीयन किया जा रहा है। जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जब भी अस्पताल जाये राशन कार्ड व आधार कार्ड लेकर जाये तथा कार्ड बनाने की प्रक्रिया निःशुल्क है अगर किसी के द्वारा पैसे की मांग की जाती है या इलाज से मना कर दिया जाता है तब टोल फ्री नम्बर 104 पर काॅल कर सकते है। पंजीकृत अस्पताल द्वारा इलाज से मना नहीं किया जा सकता है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button